सीरिया में जारी रहेंगे प्रदर्शन

  • 1 मई 2011
इमेज कॉपीरइट AP
Image caption सीरिया में पिछले छह हफ्ते से सरकार विरोधी प्रदर्शन चल रहे हैं.

सीरिया में शनिवार को छह लोगों की मौत के बाद प्रदर्शनकारियों ने पूरे देश में एक हफ्ते के लिए ‘घेरे को तोड़ने’ के अभियान की घोषणा कर दी है.

प्रदर्शनकारियों का कहना है कि वो अगले एक हफ़्ते में डेरा में फंसे हुए एक लाख से अधिक लोगों को निकालने की कोशिश करेंगे.

शनिवार को सुरक्षा बलों ने डेरा में उस मस्ज़िद को अपने नियंत्रण में कर लिया जहां बड़ी संख्या में प्रदर्शनकारी जमा थे. इस अभियान में छह लोगों की मौत हो गई है.

सरकारी टीवी का कहना है कि सैनिकों पर हथियारबंद चरमपंथियों ने हमला किया था.

प्रदर्शनकारियों का आंदोलन

आंदोलनकारियों की योजना है कि वो अगले एक हफ़्ते में देश के अलग अलग हिस्सों में जाएंगे जिसमें उनका पहला पड़ाव डेरा शहर होगा.

पूर्व में भी आस पास के शहरों से कई लोगों ने डेरा में भोजन और पानी ले जाने की कोशिश की थी.

आंदोलनकारियों का कहना है कि जब लोग भोजन पानी लेकर डेरा में प्रवेश कर रहे थे तो उन पर गोलियां चलाई गईं जिसमें 20 लोगों की मौत हो गई.

इसके बाद शनिवार को जब सुरक्षा बलों ने मस्ज़िद पर कब्ज़े की कोशिश की तो उसमें छह लोगों की मौत हो गई.

डेरा शहर का ओमारी मस्जिद प्रदर्शनकारियों के लिए केंद्र बिंदु बना हुआ था और पिछले छह हफ्ते से प्रदर्शनकारी यहीं जमा होकर सरकार के विरोध में प्रदर्शन कर रहे थे.

सेना का कहना है कि मारे गए छह लोगों में सभी चरमपंथी और भगोड़े हैं. सेना ने करीब 150 लोगों को गिरफ़्तार भी किया है.

सेना के अनुसार इनके पास से बड़ी मात्रा में गोला बारुद भी बरामद किया गया है.

सरकारी टीवी का कहना है कि ये सशस्त्र चरमपंथियों का देश के ख़िलाफ़ षडयंत्र है और इन्हें बाहर से पैसा मिल रहा है.

सरकारी टीवी पर मारे गए सैनिकों के जनाजे को काफी वक्त दिया गया है और बार बार कहा जा रहा है कि मरने वालों में सैनिकों की संख्या अधिक है.

प्रदर्शनकारियों का कहना है कि कुछ सैनिकों ने जब आंदोलनकारियों पर गोली चलाने से इंकार किया तो उन सैनिकों पर अफसरों ने गोलियां चलाईं.

संबंधित समाचार