नहीं जारी होंगी ओसामा की तस्वीरें

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption अमरीकी अधिकारियों का कहना है कि ओसामा के शव की तस्वीरें देख कर इस्लामी जगत में ग़ुस्सा भड़क सकता है.

अमरीकी टीवी चैनलों के अनुसार राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कहा है कि ओसामा बिन लादेन के शव की तस्वीरों को जारी नहीं किया जाएगा.

सीबीएस टेलीविज़न के साथ एक इंटरव्यू में बराक ओबामा ने कहा है बिन लादेन की मौत की पुष्टि के लिए जो तस्वीरें ली गई थीं उन्हें सार्वजनिक नहीं किया जाएगा.

जिन अमरीकी अधिकारियों ने तस्वीरों को देखा है उनका कहना है कि वो बहुत ही वीभत्स हैं.

उन्हें डर है कि यदि तस्वीरें जारी की गईं इस्लामी जगत में ग़ुस्सा भड़क सकता है और वहां मौजूद अमरीकी अधिकारियों को निशाना बनाया जा सकता है.

ओबामा का कहना था कि बिन लादेन की मौत हो चुकी है लेकिन जो लोग इस पर विश्वास नहीं कर रहे वो उन वीभत्स तस्वीरों को देख कर भी नहीं करेंगे.

उनका कहना था, “तस्वीरें जारी कर खुशी मनाने की ज़रूरत नहीं है. कुछ लोग भले ही यकीन नहीं करें लेकिन सच्चाई यही है कि आप ओसामा बिन लादेन को इस धरती पर चलता हुआ फिर कभी नहीं देखेंगे.”

उन्होंने कहा हम उन लोगों में से नहीं हैं जो इन चीजों (तस्वीरों) को ट्रॉफ़ी की तरह दिखाते चलें.

आतंकवाद निगरानी सूची

वहीं अमरीका के एटॉर्नी जनरल एरिक होल्डर ने कहा है कि ऐबटाबाद में बिन लादेन के ठिकाने से मिले दस्तावेज़ों के आधार पर अमरीका की आतंकवाद निगरानी सूची में और नाम जोड़े जा सकते हैं.

वहा कार्रवाई में शामिल कमांडो दलों को उस मकान से जो सामग्री मिली है उसे कई ख़ुफ़िया अधिकारी अनमोल खज़ाना कह रहे हैं.

इनमें 10 कंप्यूटर, 10 सेल फ़ोन, और लगभग 100 फ़्लैश ड्राइव शामिल हैं.

अमरीकी ख़ुफ़िया प्रमुख लियोन पनेटा का कहना है कि उनकी सबसे बड़ी प्राथमिकता ये जांचने की है कि कहीं कोई हमले की साज़िश तो नहीं रची जा रही थी.

अभियान से ये भी पता चला कि ओसामा बेहद कम समय में वहां से भागने के लिए पूरी तरह से तैयार थे.

उन्होंने अपने कपड़ों में 500 यूरो मुद्रा और दो फ़ोन नंबर सिल रखे थे.

अमरीकी एटर्नी जनरल एरिक होल्डर ने ये भी कहा है कि ओसामा पर निशाना साधना क़ानूनी रूप से पूरी तरह से वैध था क्योंकि ये राष्ट्र की आत्मरक्षा के लिए किया गया था.

संबंधित समाचार