तस्वीरें जारी करने पर असमंजस

ओसामा बिन लादेन इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption तस्वीर जारी करने को लेकर अब भी असमंजस क़ायम है

अल क़ायदा प्रमुख ओसामा बिन लादेन के शव की तस्वीर जारी करने को लेकर अमरीका अब भी असमंजस में है.

व्हाइट हाउस का कहना है कि तस्वीरें काफ़ी वीभत्स हैं और ओसामा की मौत को साबित करने के लिए इसे जारी किया गया, तो ये भड़काऊ भी हो सकता है.

हालाँकि अमरीका ने इससे इनकार नहीं किया है वो तस्वीरें जारी नहीं करेगा. रविवार रात को पाकिस्तान के ऐबटाबाद शहर में सैनिक कार्रवाई करके अमरीका ने ओसामा बिन लादेन को मार दिया था.

मंगलवार को एक प्रेस कॉन्फ़्रेंस के दौरान जब व्हाइट हाउस के प्रवक्ता जे कार्नी से इस मामले पर कई बार सवाल पूछे गए.

समीक्षा

सवालों के जवाब में उन्होंने कहा, "यह कहना बिल्कुल सही होगा कि तस्वीरें काफ़ी वीभत्स हैं. ये भड़काऊ हो सकती हैं. हम स्थिति की समीक्षा कर रहे हैं. हम एक प्रक्रिया के तहत इस पर विचार कर रहे हैं और जो सबसे बेहतर फ़ैसला होगा, वही करेंगे."

अमरीकी ख़ुफ़िया एजेंसी सीआईए के प्रमुख लियोन पनेटा ने पहले तो ये कहा कि तस्वीरें जारी की जाएँगी लेकिन बाद में उन्होंने स्पष्ट किया कि ये फ़ैसला व्हाइट हाउस पर निर्भर करता है.

जानकारों का कहना है कि अमरीका इस बात को लेकर चिंतित है कि कहीं तस्वीरें जारी करने के बाद इस पर प्रतिक्रिया न हो.

माना जा रहा है कि अमरीका ओसामा बिन लादेन के शव को समुद्र में डालने के समय की तस्वीर जारी कर सकता है. अमरीका ने शव समुद्र में डालने के फ़ैसले को सही ठहराते हुए कहा है कि पूरी इस्लामी रीति से उन्हें समुद्र में दफ़नाया गया.

अमरीकी सांसदों में भी इस बात पर चर्चा हो रही है कि सरकार को ओसामा की तस्वीरें जारी करनी चाहिए या नहीं, लेकिन कई सांसदों ने स्पष्ट किया है कि वे तस्वीर जारी करने की मांग नहीं करेंगे.

संबंधित समाचार