अल-क़ायदा ने माना, ओसामा मारे गए

ओसामा बिन लादेन इमेज कॉपीरइट Reuters

अल-क़ायदा ने शुक्रवार को अपने नेता ओसामा बिन लादेन की मौत की पुष्टि कर दी है और अमरीका को बदले की कार्रवाई की चेतावनी दी है.

जेहादी वेबसाइटों पर नज़र रखने वाले एक अमरीकी निगरानी सेवा के अनुसार ओसामा की मौत की पुष्टि चरमपंथी वेबसाइटों पर प्रकाशित की गई है.

अल क़ायदा के साझा नेतृत्व की ओर से जारी किए गए इस बयान को तीन मई को जारी किया गया है.

इसमें कहा गया है कि ओसामा बिन लादने की मौत एक ऐसा शाप है जो अमरीकियों का पीछा करता रहेगा.

उल्लेखनीय है कि एक और दो मई की दरम्यानी रात अमरीका ने पाकिस्तान के ऐबटाबाद में की गई एक सैन्य कार्रवाई में ओसामा बिन लादेन को मार दिया था.

पाकिस्तानियों से अपील

हालांकि इस बयान की स्वतंत्र रुप से पुष्टि नहीं की जा सकी है लेकिन ओसामा की मौत की पुष्टि करने वाला यह बयान उन वेबसाइटों पर प्रकाशित हुआ है जिनमें अक्सर अल-क़ायदा और उससे जुड़े संगठनों के बयान प्रकाशित होते रहे हैं.

इस बयान में कहा गया है कि अल-क़ायदा नेता की आवाज़ का एक ऑडियो टेप जल्दी ही जारी किया जाएगा, जो उन्होंने अपनी मौत के एक हफ़्ते पहले रिकॉर्ड किया था.

बयान में कहा गया है, "अगर अल्लाह ने चाहा तो ओसामा बिन लादेन का ख़ून एक अभिशाप की तरह अमरीकियों और उनके एजेंटों का पीछा करेगा. उनके देश में और देश के बाहर भी."

"उनकी ख़ुशी ग़म में बदल जाएगी और उनके ख़ून और वो ख़ून के आंसू रोएंगे."

समाचार एजेंसी एपी के अनुसार इस बयान में कहा गया है, "शेख ओसामा का ख़ून व्यर्थ नहीं जाएगा."

इस बयान में पाकिस्तानी लोगों से अपील की गई है कि वे विद्रोह के लिए उठ खड़े हों.

संवाददाताओं का कहना है कि कई पाकिस्तानी इस बात पर नाराज़ हैं कि अमरीका ने उनके देश की संप्रभुता को ताक पर रखकर उनके देश में दखलंदाज़ी की है.

वे अपने देश की सरकार से भी नाराज़ हैं कि उसने अमरीका को ऐसी कार्रवाई करने की अनुमति दी.

संबंधित समाचार