अमरीका ने बढ़ाया पाकिस्तान पर दबाव

इमेज कॉपीरइट nocredit

अमरीका ने पाकिस्तान से कहा है कि वो उस नेटवर्क की जांच करे जिसकी वजह से ओसामा बिन लादेन इतने समय तक ऐबटाबाद में सुरक्षित रह सका.

अमरीका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार टॉम डोनिलन ने एनबीसी टीवी से कहा कि उन्होंने ऐसा कोई सबूत नहीं देखा जिससे ये लगे कि पाकिस्तान को पहले से अल क़ायदा प्रमुख के ठिकाने के बारे में पहले से पता था.

हालांकि डोनिलन ने ये भी कहा कि पाकिस्तानी अधिकारियों को ये स्पष्ट करना होगा कि अल क़ायदा नेता इस्लामाबाद से थोड़ी ही दूर पर और मिलिट्री एकेडेमी के सामने छह साल से कैसे सुरक्षित रह रहे थे.

डोनिलन ने इंटरव्यू में बताया कि ओसामा के परिसर से जो सामान बरामद हुआ है वो किसी छोटे से कॉलेज की लाइब्रेरी के बराबर है.

पाकिस्तान ने भी बार बार कहा है कि उसे इस बात की कोई जानकारी नहीं थी कि ओसामा बिन लादेन ऐबटाबाद में रह रहे हैं.

डोनिलन का कहना था, ‘‘ ऐबटाबाद में सपोर्ट नेटवर्क तो था जिसका संबंध बिन लादेन से था. हालांकि हमें ऐसा कोई सबूत नहीं मिला है जिससे ये पता लगे कि पाकिस्तान सरकार को इस बारे में पता था. उन्हें इस बात की जांच करनी चाहिए.’’

ओसामा को ऐबटाबाद के जिस घर में मारा गया वहां से बड़ी मात्रा में कंप्यूटर और अन्य सामग्री बरामद की गई है जिसकी जांच अमरीकी ख़ुफ़िया एजेंसियां कर रही हैं.

इस बारे में डोनिलन का कहना था, ‘‘ किसी भी एक आतंकवादी के पास से मिली यह सबसे बड़ी जानकारी है. जितना सामान मिला है वो सीआईए के अनुसार किसी छोटे कॉलेज की लाइब्रेरी के बराबर है.’’

शनिवार को पेंटागन ने ऐबटाबाद से बरामद पाँच वीडियो दिखाए थे लेकिन उसकी आवाज़ नहीं सुनवाई.

इसमें एक ऐसा वीडियो भी था जिसमें ओसामा बिन लादेन टीवी देख रहे हैं जिसमें उन्हीं से जुड़ी कोई ख़बर आ रही थी.