दमिश्क में गोलीबारी, संयुक्त राष्ट्र चिंतित

  • 10 मई 2011
दमिश्क में गश्त लगाता एक सैनिक इमेज कॉपीरइट BBC World Service

सीरिया में जहाँ के ओर सेना ने राजधानी दमिश्क की घेराबंदी कर ली है और भीषण गोलीबारी की आवाज़ें सुनाई दे रही हैं, वहीं संयुक्त राष्ट्र ने डेरा की स्थिति पर चिंता जताई है. उधर युरोपीय संघ सीरिया को सैन्य सामग्री दिए जाने पर प्रतिबंध लगाने जा रहा है.

दमिश्क के बाहरी इलाक़े मौधामिया पर धुँए के काले बादल दिखाई दे रहे हैं और एक मानवाधिकार कार्यकर्ता ने बीबीसी को बताया है कि तीन लोग मारे गए हैं.

सुरक्षा बल कई हफ़्तों से देश में चल रहे सरकार विरोधी प्रदर्शनों को होम्स और डेरा में भा दबाने की कोशिश कर रहे हैं.

संयुक्त राष्ट्र चिंतित, यूरोपीय संघ के प्रतिबंध

संयक्त राष्ट्र ने डेरा की स्थिति पर चिंता जताई है क्योंकि उस शहर से दो हफ़्ते से पूरी तरह से संपर्क कटा हुआ है और वहाँ टैंकों के इस्तेमाल से सैनिक स्थिति पर नियंत्रण पाने की कोशिश कर रहे हैं.

संयुक्त राष्ट्र का कहना है कि वहाँ उसके मानवीय सहायत के मिशन को 30 हज़ार शरणार्थियों तक चिकित्सा संबंधी सामान पहुँचाने की इजाज़त नहीं मिली है.

उधर यूरोपीय संघ ने सीरिया आनेजाने के प्रतिबंध और 13 सीरियाई अधिकारियों की संपत्ति ज़ब्त करने के साथ-साथ सीरिया को सैन्य सामान दिए जाने पर भी प्रतिबंध लगाने की योजना बनाई है.

यह फ़ैसला पिछले हफ़्ते यूरोपीय संघ के 27 देशों के राजनीतिक और सुरक्षा सलाहकारों की बैठक के बाद हुआ है.

'सैकड़ों मारे गए, हज़ारों घायल'

मानवाधिकार गुटों का मानना है कि सीरिया में 800 लोग मारे जा चुके हैं और हज़ारों अन्य देश में हो रहे प्रदर्शनों में घायल हुए हैं.

अनेक लोगों को वहाँ गिरफ़्तार किया गया है.

विदेशी पत्रकारों को देश में जाने की अनुमति नहीं दी गई है और इसलिए वहाँ से आने वाली ख़बरों की स्वतंत्र सूत्रों से पुष्टि कर पाना मुश्किल है.

दमिश्क में मौजूद के एक प्रत्यक्षदर्शी ने बीबीसी को बताया है, "सेना और सुरक्षा बलों ने शहर में लोगों के ख़िलाफ़ ख़तरनाक़ बल प्रयोग किया है और वे प्रदर्शनकारियों के नेताओं को गिरफ़्तार करना चाहते हैं."

डेरा से गोलीबारी की ख़बरें हैं. होम्स शहर से एक निवासी ने बीबीसी को बताया है, "शहर के बाहरी इलाक़े में टैंकों की गोलाबारी की आवाज़े सुनाई दे रही हैं. पिछली रात कई घंटे गोलीबारी होती रही है."

रिपोर्टों के अनुसार होम्स में शुक्रवार को 15 लोगों को गोली मार दी गई.

उधर सेना का कहना है कि वह 'सशस्त्र आतंकवादियों' के ख़िलाफ़ कार्रवाई कर रही है.

राजनीतिक कार्यकर्ताओं का कहना है कि बानियास और डेरा के आसपास के गावों से 250 लोगों को गिरफ़्तार कर लिया गया है.

संबंधित समाचार