जापान का हम्माओका परमाणु संयत्र बंद

  • 14 मई 2011
हम्माओका इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption हम्माओका प्लांट के बंद होने से जापान में बिजली की कमी बढ़ने का ख़तरा है.

जापान ने टोक्यो के नज़दीक स्थित हम्माओका परमाणु संयत्र को सुरक्षा पर उठाए गए सवालों के बीच पूरी तरह से बंद कर दिया है.

वैज्ञानिकों ने हाल में ही कहा है कि हम्माओका एक ऐसे क्षेत्र में मौजूद है जहाँ आनेवाले तीस सालों में भारी भूकंप का ख़तरा है और संयत्र उसके झटके नहीं झेल पाएगा.

प्लांट को आनेवाले कई सालों तक बंद रखा जाएगा जिस दौरान संयत्र और समुद्र के बीच बनी दीवार को और मजबूत बनाने के अलावा नए सुरक्षा उपकरण लगाए जाएंगे.

जानकार मानते है कि वहाँ मौजूद आठ मीटर ऊँची दीवार फ़ुकुशिमा जैसी स्थिति को झेल पाने में असमर्थ होगा.

हालांकि कुछ हलकों में बिजली की बढ़ती कमी को लेकर चिंता जताई जा रही है.

राजधानी टोक्यो से 200 किलोमीटर दक्षिण-पश्चिम में स्थित हम्माओका संयत्र से वहाँ मौजूद उद्योग क्षेत्र को बिजली स्पलाई की जाती थी.

देश का एक और बड़ा परमाणु बिजली संयत्र फ़ुकुशिमा मार्च में आए भूकंप और सुनामी में बूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया था.

इसके बाद देश में परमाणु संयत्रों की सुरक्षा पर पुनर्विचार हो रहा है.

इस बीच फ़ुकुशिमा संयत्र मे काम करे एक व्यक्ति की मौत हो गई है.

सुनामी के बाद से प्लांट के भीतर हुई ये पहली मौत है.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार