'लाइव' में आलोचना पड़ी भारी

  • 18 मई 2011
इमेज कॉपीरइट internet

यूक्रेन के राष्ट्रीय रेडियो स्टेशन ने मौसम के पूर्वानुमान को स्थगित कर दिया है. दरअसल इस स्टेशन पर एक प्रस्तुतकर्ता ने मौसम के बारे में बात करते हुए देश के राजनीतिक हालात को को निराशाजनक बता दिया था.

ये पहली बार नहीं है जब यूक्रेन के मीडिया में ऐसा तूफ़ान आया हो.

कुछ साल पहले यूक्रेन के राष्ट्रीय टीवी ने एक मूक-बधिरों के लिए समाचारों के अनुवादक को इसलिए नौकरी से हटा दिया था क्योंकि उसने दर्शकों को बताया था कि प्रशासन झूठ बोल रहा है.

इस बार मौसम के सीधे प्रसारण के दौरान मुख्य मौसम विज्ञानी ल्यूडमिला सेवचेनको ने देश के राजनीतिक मौसम को निराशाजनक बता डाला.

अब यूक्रेन के राष्ट्रीय रेडियो स्टेशन पर मौसम के बुलेटिन रिकॉर्ड किए जाएंगे उसके बाद उन्हें स्टेशन के संपादक सुनेंगे,तभी उन्हें प्रसारित किया जा सकेगा.

प्रसारण

प्रसारण के दौरान ल्यूडमिला सेवचेनको ने पहले तो वसंत के मौसम की ख़ूबसूरत की बात की और फिर अचानक देश के हालात की चर्चा शुरु कर दी.

यूक्रेन के राष्ट्रीय रेडियो पर सेवचेनको ने कहा, "आप ख़ूबसूरती के प्रति उदासीन नहीं रह सकते, घाटी फूलों की महक, और पक्षियों के गीतों से सराबोर है. कभी कभी लगता है कि मौसम हमारे देश में मौजूद गड़बड़ियों,अराजकता और अन्याय की भरपाई कर रहा है."

यूक्रेन के मौसम विभाग ने सेवचेनको के निष्कासन पर अभी कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है.

लेकिन ल्यूडमिला सेवचेनको ने एक वेबसाइट को बताया है कि उन्हें अपने क़दम को परिणाम के बारे में पूरा अंदाज़ा था.

सेवचेनको ने 'यूक्रेनियन प्रावदा' को बताया वेबसाइट, "मैंने वही किया जो मुझे करना चाहिए था. मैंने वही किया जिसे में सत्य मानती हूं और जिसपर मैं अब भी यक़ीन करती हूं. मुझे मालूम था कि मैं दोबारा कभी प्रसारण नहीं कर पाऊंगी."

यूक्रेन में मौसम का पूर्वानुमान बहुत लोकप्रिय है.

अब यूक्रेन के राष्ट्रीय रेडियो स्टेशन पर मौसम का पूर्वानुमान सीधे प्रसारित ना होकर रिकॉर्ड करने के बाद सुनाया जाएगा. उम्मीद है लोग इस मौसम बदलने से पहले सुन पाएंगे.

संबंधित समाचार