स्ट्रॉस कान को मिली ज़मानत

डॉमिनीक स्ट्रॉस कान इमेज कॉपीरइट afp

एक होटल में महिलाकर्मी के साथ बलात्कार के प्रयास के आरोप में गिरफ़्तार किए गए अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष (आईएमएफ़) के पूर्व प्रमुख डॉमिनीक स्ट्रॉस कान को न्यूयॉर्क की एक अदालत ने ज़मानत दे दी है.

इससे पहले सोमवार को अदालत ने उन्हें ज़मानत देने से इनकार कर दिया था.

सुप्रीम कोर्ट के जज माइकल ओबस ने उन्हें दस लाख डॉलर की ज़मानत और नज़रबंदी की शर्त पर रिहा करने के आदेश दिए हैं.

स्ट्रॉस कान ने गुरुवार को ही अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष के प्रमुख के पद से इस्तीफ़ा दिया है.

उनके वकीलों ने अदालत से कहा कि उनके मुवक्किल एक प्रतिष्ठित व्यक्ति हैं और वे फ़रार होने की कोशिश नहीं करेंगे, लेकिन अभियोजन पक्ष के वकीलों ने ज़मानत दिए जाने का इस आधार पर विरोध किया था कि गत शनिवार को घटना के बाद स्ट्रॉस कान ने हड़बड़ी में भाग जाने का प्रयास किया था.

इससे पहले ग्रैंड जूरी ने डॉमिनीक स्ट्रॉस कान पर बलात्कार का प्रयास का आरोप लगाने वाली 32 वर्षीय महिला की बात सुनने के बाद उन पर सात आपराधिक अभियोग तय किए हैं.

इनमें एक बलात्कार का प्रयास का आरोप है और दो आरोप हैं कि स्ट्रॉस कान ने महिला कर्मी को मुखमैथुन करने के लिए बाध्य करने का प्रयास किया.

वे सभी आरोपों का खंडन करते हैं.

निगरानी

अदालत ने ज़मानत देने के साथ ही कहा है कि डोमिनीक स्ट्रॉस कान न्यूयॉर्क में घर में रह सकते हैं लेकिन उन पर 24 घंटे इलेक्ट्रॉनिक निगरानी रखी जाए.

जज ने कहा है कि जिस घर में वे रहेंगे उसके बाहर एक हथियार बंद सुरक्षाकर्मी तैनात किया जाए जिसका खर्च स्ट्रॉस कान ही उठाएंगे.

इसके अलावा जज ने उनसे यात्रा संबंधी सभी दस्तावेज़ अदालत को सौंपने के आदेश दिए हैं.

दस लाख की नक़द राशि के अलावा 50 लाख का इंश्योरेंस बॉण्ड भी ज़मानत की शर्त में शामिल है.

लेकिन इस ज़मानत के बावजूद स्ट्रॉस कान को ज़मानत के दस्तावेज़ों पर दस्तख़त होने से पहले अपनी चौथी रात भी रिकर्स आइलैंड जेल में बितानी होगी.

उनके मामले की सुनवाई छह जून से शुरु होगी.

गुरुवार को सुनवाई के दौरान स्ट्रॉस कान की पत्नी एन सिनक्लेयर अदालत में मौजूद थीं.

जब स्ट्रॉस कान अदालतम में लाए गए तो उन्हें हथकड़ी नहीं पहनाई गई थी लेकिन उन्हें चार पुलिस वालों ने पकड़ रखा था.

वे अपनी पत्नी को देखकर मुस्कुराए.

आरोप

न्यूयॉर्क के एक होटल में एक 32 वर्षीय महिला कर्मी के साथ बलात्कार की कोशिश के आरोप में शनिवार को डोमिनीक स्ट्रॉस कान को विमानतल से गिरफ़्तार किया गया था.

सोमवार को एक अदालत ने उन्हें इस मामले में ज़मानत देने से इनकार करते हुए शुक्रवार तक के लिए जेल भेज दिया था.

62 वर्षीय कान पर कुल सात आरोप हैं और अगर वे दोषी साबित होते हैं तो उन्हें 25 वर्ष तक की सज़ा हो सकती है. हालांकि वे इन सभी आरोपों का खंडन करते हैं.

स्ट्रॉस कान को वर्ष 2012 में फ़्रांस में होने वाले राष्ट्रपति चुनाव के लिए एक दमदार उम्मीदवार के रूप में देखा जा रहा था.

लेकिन इस घटना के बाद एक तो उन्हें अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष के प्रमुख के पद से इस्तीफ़ा देना पड़ा है दूसरी ओर राष्ट्रपति पद के लिए उनकी उम्मीदवारी पर प्रश्नचिन्ह लग गया है.

संबंधित समाचार