''2 जी मामले में क़ानून ने अपना काम किया है''

  • 24 मई 2011
इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जयललिता

तमिलनाडु की मुख्यमंत्री और एआईएडीमके प्रमुख जयललिता ने मंगलवार को कहा कि 2 जी स्पेक्ट्रम आवंटन घोटाले में आखिरकार क़ानून ने अपना काम किया है.

मुख्यमंत्री का पद संभालने के बाद पहली बार संवाददाताओं से बात करते हुए जयललिता ने कहा कि 2 जी मामले में क़ानून के मुताबिक ही कार्रवाई की जा रही है और लंबे समय बाद न्यायिक व्यवस्था में लोगों का भरोसा फिर से क़ायम हुआ है.

द्रमुक सांसद कनिमोड़ी की ज़मानत अर्ज़ी के बारे में जयललिता ने कहा कि कनिमोड़ी का ये कहना कि वो महिला हैं इसलिए उन्हें ज़मानत मिल जानी चाहिए, ये एक ग़लत तर्क है.

उन्होंने कहा,''राजनीति में महिला होने के नाते आप किसी रियायत की उम्मीद नहीं कर सकते. ठीक वैसे ही जैसे किसी आपराधिक मामले में किसी को इसलिए रियायत नहीं दी जा सकती क्योंकि वो महिला है.''

जेल में रहेंगी कनिमोड़ी

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption 2 जी मामले में जेल में हैं कनिमोड़ी

दिल्ली के तिहाड़ जेल में बंद द्रमुक सांसद कनिमोड़ी के पास कलनियार टीवी में 20 फ़ीसदी की हिस्सेदारी है.

उन पर आरोप है कि 2 जी मामले में सह अभियुक्त बनाए गए डीबी रियल्टी के शाहिद बलवा से उन्होंने कलइनार टीवी के लिए 200 करोड़ रुपए लिए.

2 जी मामले में 20 मई को ग़िरफ़्तार कनिमोड़ी की ज़मानत याचिका सीबीआई की विशेष अदालत ने खारिज कर दी थी.

मंगलवार को दिल्ली उच्च न्यायालय ने जांच एजेंसी सीबीआई को कनिमोड़ी और कलइनार टीवी के एमडी शरद कुमार की ज़मानत याचिका के बारे में नोटिस जारी किया.

सोमवार को कनिमोड़ी और शरद कुमार ने अपनी ज़मानत के लिए हाईकोर्ट में अर्ज़ी दाखिल की थी. लेकिन कोर्ट ने उन्हें ज़मानत देने की बजाय सीबीआई को नोटिस जारी कर दिया है.

अदालत ने सीबीआई से मामले की अगली सुनवाई के दिन यानि 30 मई को जांच में हुई प्रगति का पूरा ब्योरा देने को कहा है.

डीएमके प्रमुख एम कुरुणानिधि की 43 वर्षीय बेटी कनिमोड़ी और शरद कुमार ने 20 मई को सीबीआई की विशेष अदालत द्वारा दिए गए ग़िरफ़्तारी के आदेश के बाद सोमवार को हाईकोर्ट में ज़मानत याचिका दाखिल की थी.

कांग्रेस-डीएमके संबंध

इस बीच दिल्ली में डीएमके प्रमुख करुणानिधि से मुलाक़ात के बाद कांग्रेस नेता ग़ुलामनबी आज़ाद ने कहा है कि, ''2 जी मामले में कनिमोड़ी की गिरफ़्तारी का कांग्रेस और डीएमके के रिश्ते पर कोई असर नहीं पड़ेगा''. साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि यूपीए सरकार इस मामले में कोई हस्तक्षेप नहीं करेगी.

उन्होंने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कनिमोड़ी के जेल में होने पर चिंता जताई है लेकिन हक़ीक़त ये है कि कोई इस मामले में कोई कुछ भी करने में असमर्थ है.

संबंधित समाचार