म्लाडिच ने तो महिलाओं-बच्चों को बचाया: पुत्र

राजनीतिक नेता कराडज़िच (बाँए) और रात्को म्लाडिच इमेज कॉपीरइट AP
Image caption राजनीतिक नेता कराडज़िच गिरफ़्तार हो चुके हैं और म्लाडिच 16 साल बाद पकड़े गए हैं

बोस्निया युद्ध के दौरान मुसलमानों के जनसंहार के आरोप में गिरफ़्तार हुए यूरोप के 'मोस्ट वॉंटेड' सर्बियाई सैन्य कमांडर रात्को म्लाडिच ने 1995 में स्रेबरेनिका जनसंहार में हाथ होने से इनकार किया है.

सोलह साल तक गिरफ़्तारी से बचने के बाद, सर्बियाई सैन्य कमांडर रात्को म्लाडिच को बेलग्रेड से 85 किलोमीटर दूर स्थित एक गांव से गिरफ़्तार किया गया था.

म्लाडिच पर 1995 में बास्निया के युद्ध के दौरान स्रेबरेनिका में कम से कम 7500 मुसलमान पुरुषों और लड़कों के जनसंहार में भूमिका निभाने का आरोप है.

उधर सर्बिया की राजधानी बेलग्रेड में पुलिस ने कहा है कि रात्को म्लाडिच की गिरफ़्तारी के ख़िलाफ़ विरोध प्रदर्शनों की योजनाओं के देखते हुए सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है.

महिलाओं-बच्चों को बचाया: पुत्र

रात्को म्लाडिच के पुत्र दारको ने अपने पिता से मिलने के बाद बेलग्रेड में एक बयान जारी किया और कहा कि रात्को म्लाडिच ने जनसंहार का आदेश नहीं दिया था.

सोमवार को रात्को म्लाडिच को हेग स्थित अंतरराष्ट्रीय युद्धापराध ट्राइब्यूनल में प्रत्यार्पित करने की प्रक्रिया शुरु होनी है.

दारको ने कहा, "उन्होंने (रात्को म्लाडिच) ने कहा कि स्रेबरेनिका में जो हुआ उससे उनका कोई लेना-देना नहीं था. उन्होंने कई महिलाओं, बच्चों और लड़ाकों को बचाया...उनके आदेश थे कि पहले घायलों को, महिलाओं-बच्चों को और फिर लड़ाकों को सुरक्षित स्थानों तक पहुँचाया जाए. जो भी किसी ने उनकी पीठ के पीछे किया उसके साथ उनका कोई संबंध नहीं था."

म्लाडिट के कई समर्थकों ने पहले भी साराजीवो में विरोध प्रदर्शन किए थे और यही हाल कुछ ग्रामीण इलाक़ों का है जहाँ उन्हें 'वॉर हीरो' यानी युद्ध के नायक के रूप में देखा जाता है

अब उनके समर्थक सोमवार को और व्यापक विरोध प्रदर्शन करने की योजनाएँ बना रहे हैं.

संबंधित समाचार