नेटो हमलों के बाद लीबिया में कई धमाके

हवाई हमले इमेज कॉपीरइट AFP

नेटो की ओर से लीबिया में देर रात किए गए हवाई हमलों से राजधानी त्रिपोली में कई जगहों पर ज़बर्दस्त धमाके हुए हैं.

त्रिपोली में देर रात किए गए 20 से भी ज़्यादा इन हमलों के बाद कई इमारतें दहल गईं.

सरकार ने इस बात की पुष्टि की है कि ये हमले गद्दाफ़ी सरकार की कई सैन्य इमारतों के आसपास किए गए हैं.

माना जा रहा है कि इनमें से कुछ धमाके लीबियाई नेता कर्नल गद्दाफ़ी के रिहाइशी इलाके के आसपास भी किए गए हैं.

यह धमाके उस वक्त किए गए हैं जब कर्नल गद्दाफ़ी पर सत्ता छोड़ने को लेकर कूटनीतिक दबाव बढ़ता जा रहा है.

इस बीच लीबिया की स्थिति पर विचार कर रहे अफ्रीकी यूनियन के दल के मुखिया मुहम्मद अब्देल अज़ीज़ ने कहा है कि अब इस मुद्दे पर उनका दख़ल ज़रूरी हो गया है.

चार महीने से जारी संघर्ष और संकट की इस स्थिति से निपटने के लिए चीन और रुस के वरिष्ठ कूटनीतिज्ञों का एक दल भी बेंग़ाज़ी के लिए रवाना हो चुका है.

रुस का प्रतिनिधित्व कर रहे मिखाइल मार्गेलोव ने कहा, ''हम बेनगाज़ी आए हैं दोनों पक्षों के बीच बातचीत का एक माहौल तैयार करने.''

साथ ही लीबिया के विदेश मंत्री अब्दुल अति अल-ओबेदी बीजिंग की यात्रा पर हैं. राजनीतिक विश्लेषकों का मानना है कि उनकी यात्रा का मकसद अंतरराष्ट्रीय मंच पर लीबियाई सरकार के लिए समर्थन जुटाना है.

ग़ौरतलब है कि रुस के राष्ट्रपति दिमित्री मेदव्देव ने कुछ समय पहले कहा था कि लीबियाई नेता कर्नल गद्दाफ़ी सत्ता में रहने का अधिकार खो चुके हैं और उन्हें इस्तीफ़ा दे देना चाहिए.

इससे पहले कर्नल गद्दाफ़ी ने विद्रोहियों के गढ़ बेनग़ाज़ी शहर को तहस-नहस करने की धमकी दी थी.

संबंधित समाचार