टाटा को दी ज़मीन वापस लेने की प्रक्रिया शुरु

Image caption पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी

पश्चिम बंगाल की ममता बनर्जी सरकार ने सिंगूर में टाटा मोटर्स को दी गई 400 एकड़ ज़मीन वापस लेने के लिए अध्यादेश जारी किया है.

ये खाली पड़ी ज़मीन सिंगूर के उन किसानों को दी जानी है जो टाटा मोटर्स को अपनी ज़मीन दिए जाने का विरोध कर रहे थे.

ये ज़मीन पिछली वामपंथी सरकार ने टाटा ग्रुप को नैनो का कारखाना लगाने के लिए दी थी.

ममता बनर्जी ने कहा है अध्यादेश पर पश्चिम बंगाल के राज्यपाल एन के नारायणन ने दस्तख़त कर दिए हैं.

उन्होंने गुरुवार के दिन को सिंगूर की जनता के लिए ऐतिहासिक दिन बताया और कहा कि अध्यादेश को विधानसभा के अगले सत्र में पारित करने के लिए रखा जाएगा.

सिंगूर के किसानों की ज़मीन टाटा से वापस लेने के लिए 26 दिन तक अनशन पर बैठी ममता बनर्जी ने कहा, '' अध्यादेश जारी होने पर मैं बहुत खुश हूं. बाक़ी बची 600 एकड़ ज़मीन उद्योगों के लिए खुली रखी जाएगी. टाटा अगर चाहे तो वहां उद्योग लगा सकती है.''

ममता बनर्जी ने ये भी कहा कि टाटा अगर इस 600 एकड़ ज़मीन पर उद्योग लगाने की बजाए मुआवज़े की मांग करती है तो उन्हें क़ानून के दायरे में रहते हुए मुआवज़ा भी दिया जाएगा और इसके लिए एक आर्बिट्रेटर या पंच निर्णायक की नियुक्त की जाएगी.

सिंगूर के प्रभावित किसानों को 400 एकड़ ज़मीन लौटाने का फ़ैसला ममता बनर्जी ने 20 मई को पश्चिम बंगाल की सत्ता संभालने के बाद हुई पहली कैबिनेट बैठक में ही लिया था.

उन्होंने कहा कि वो सिंगूर के स्थानीय विधायकों से बात कर ये तय करेंगी कि चार सौ एकड़ ज़मीन किसानों को किस तरह लौटाई जा सकती है.

पूरा किया चुनावी वादा

Image caption नैनो प्लांट के लिए टाटा को मिली थी ज़मीन

ममता बनर्जी ने पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव से पहले तृणमूल कांग्रेस का जो चुनावी घोषणा पत्र जारी किया था उसमें सिंगूर के किसानों से ये वादा किया था कि सत्ता में आने पर किसानों की ज़मीनें लौटा दी जाएंगी.

सत्ता संभालने के बाद 20 मई को भी ममता बनर्जी ने कहा था कि पूर्व सरकार ने सिंगूर में जिस 400 एकड़ ज़मीन का अधिग्रहण किया था वो किसानों को लौटा दी जाएगी हालांकि साथ में उन्होंने ये भी कहा था कि अगर टाटा समूह बंगाल में निवेश करना चाहता है तो उसका स्वागत है.

अब सत्ता में आने के एक महीने के भीतर ममता बनर्जी ने पश्चिम बंगाल की जनता से किया अपना वादा पूरा किया है.

संबंधित समाचार