फिर मिल सकती है हेडली से पूछताछ की इजाज़त

डेविड हेडली
Image caption हेडली से पहले भी भारतीय अधिकारी एक बार पूछताछ कर चुके हैं.

अमरीका ने कहा है कि वो भारत को डेविड कोलमैन हेडली से एक बार फिर से पूछताछ करने की इजाज़त देने पर विचार कर सकता है.

पिछले साल भी भारतीय अधिकारियों की एक टीम ने पाकिस्तानी मूल के अमरीकी नागरिक हेडली से शिकागो में पूछताछ की थी.

हेडली ने आतंकवाद के 12 विभिन्न अभियोगों में अपना दोष स्वीकार किया है. इनमें 26 नवंबर 2008 को हुआ मुंबई पर हमला भी शामिल है जिसमें 170 से अधिक लोगों की जान गई थी.

हेडली पाकिस्तानी मूल के कनाडाई नागरिक तहाव्वुर राणा के ख़िलाफ़ शुक्रवार को शिकागो में ख़त्म हुए मुक़द्दमें में एक प्रमुख गवाह थे. शिकागो की ज्यूरी ने व्यवसायी तहव्वुर राणा को 2008 के मुंबई हमलों की साज़िश में मदद करने का दोषी नहीं पाया था लेकिन उन्हें लश्करे-तैबा का समर्थन करने का दोषी पाया था जिसे कथित रूप से मुंबई हमलों के लिए दोषी ठहराया जा रहा है.

अनुमति पर विचार

अमरीकी विदेश विभाग के प्रवक्ता मार्क टोनर ने कहा, "हम पहले भी पूछताछ की अनुमति दे चुके हैं. अब मुक़दमा हो चुका है. भविष्य में हम एक बार फिर भारत को हेडली से पूछताछ की इजाज़त देने के बारे में सोच सकते हैं."

शुक्रवार को आए फ़ैसले पर प्रवक्ता टोनर ने कहा कि इससे दुनिया भर में आतंकवाद का सहयोग करने वालों को समझ आ जाएगा कि जो भी इनकी सहायता करेगा उसे न्याय का सामना करना पड़ेगा.

लेकिन अमरीकी विदेश विभाग के प्रवक्ता ने तहाव्वुर राणा के मुबंई हमलों के आरोप से बरी किए जाने पर कोई टिप्पणी करने से गुरेज़ किया.

संबंधित समाचार