'अफ़्रीकी अल क़ायदा नेता की मौत'

  • 11 जून 2011
इमेज कॉपीरइट AFP

अमरीकी अधिकारियों का कहना है कि इस बात की पूरे-पूरे संकेत हैं कि पूर्वी अफ़्रीका में अल क़ायदा के नेता फ़ज़ुल अब्दुल्ला मोहम्मद की मौत हो गई हैं. अधिकारी के मुताबिक फ़ज़ुल अब्दुल्ला की मौत सोमालिया की राजधानी मोगादीशू में हुई.

फ़ज़ुल अब्दुल्ला मोहम्मद पर आरोप है कि उन्होंने 1998 में कीनिया और तंज़ानिया में अमरीकी दूतावसों पर हमले की साज़िश रची थी. इन हमलों में 224 लोगों मारे गए थे.सोमालियाई अधिकारियों के अनुसार फ़ज़ुल अब्दुल्ला इस हफ़्ते मारे गए थे.

लेकिन सोमालिया में मौजूद अफ़्रीकी यूनियन के शांतिबल ने मृत व्यक्ति की पहचान पर संदेह जताया है.सोमालिया पर मुख्यत इस्लामी अल शबाब संगठन का नियंत्रण है और इस संगठन का कहना है कि मौत की ख़बरें ग़लत हैं.

अमरीका ने उनसे जुड़ी जानकारी देने वाले को 50 लाख डॉलर का ईनाम देने की घोषणा कर रखी है. वे अफ़्रीका में मोस्ट वांटेड व्यक्ति थे.

अमरीका की विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन ने कहा है कि फ़ज़ुल अब्दुल्ला मोहम्मद की मौत अल क़ायदा के लिए बड़ा ‘झटका’ है. माना जाता है कि वे पूर्वी अफ़्रीका में अल क़ायदा के प्रमुख थे.

सोमाली सुरक्षा अधिकारियों ने एएफ़पी को बताया है कि फ़ज़ुल अब्दुल्ला मोहम्मद और एक अन्य चरमपंथी को सरकारी सुरक्षाबलों ने एक नाके पर मारा.

सोमाली सूत्रों ने एएफ़पी को बताया कि फ़ज़ुल अब्दुल्ला के पास 40 हज़ार डॉलर थे और एक दक्षिण अफ़्रीकी पासपोर्ट था जिस पर डेनिएल रॉबिसन का नाम था.बाद में सोमालिया की राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी ने बताया कि डीएनए परीक्षण से पता चलता है कि वो वाकई फ़ज़ुल अब्दुल्ला मोहम्मद ही था.

माना जाता है कि फ़ज़ुल अब्दुल्ला पिछले कुछ वर्षों से इस्लामी गुट अल शबाब के साथ थे जो 2010 से अल क़ायदा से जुड़ी हुई है.

संबंधित समाचार