सीरिया में बशर के समर्थन में प्रदर्शन

  • 21 जून 2011
इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption बशर के सर्मथकों ने राष्ट्रीय ध्वज उठा रखे थे

सीरिया में राष्ट्रपति बशर अल असद के समर्थन में बड़े पैमाने पर रैलियों का आयोजन किया गया है.

दमिश्क, डेरा, हमा और होम्स जैसे शहरों में लोग बशर अल असद के बड़े बड़े पोस्टरों के साथ सड़क पर आए हैं और उनके समर्थन में नारे लगा रहे हैं.

इससे पहले सोमवार को सीरिया के राष्ट्रपति बशर अल असद ने कहा था कि वे जनता की जायज़ माँगों को मानने के लिए तैयार हैं लेकिन उपद्रवियों को जनभावना का ग़लत इस्तेमाल करने की छूट नहीं दे सकते.

उन्होंने हिंसा के डर से भागकर तुर्की गए लोगों को स्वदेश लौट आने के लिए भी कहा था.

सरकारी टीवी पर असद समर्थक प्रदर्शन की तस्वीरें लगातार दिखाई जा रही हैं, टीवी प्रेजेंटर का कहना है कि इन प्रदर्शनों में लाखों लोग हिस्सा ले रहे हैं.

सरकारी टीवी का कहना है कि यह प्रदर्शन राष्ट्रपति असद के सोमवार के भाषण के स्वागत में किया जा रहा है.

सीरियाई राष्ट्रपति की सलाहकार डॉक्टर बुथानिया शबान ने कहा कि कल की बशर अल असद की घोषणा से एक नए युग की शुरूआत हुई है.

उन्होंने कहा, "सीरिया को लेकर एक बड़ा मीडिया अभियान चल रहा है, सीरिया को लेकर काफ़ी झूठ फैलाया जा रहा है, आज सीरिया की जनता काफ़ी ख़ुश है, यह सीरिया में नए दौर की शुरूआत है."

सोमवार के अपने भाषण में असद ने राष्ट्रीय संवाद प्राधिकरण और संविधान समीक्षा समिति के गठन का वादा किया था, उनके विरोधियों ने इन घोषणाओं को यह कहते हुए ठुकरा दिया था कि सीरिया में सत्ता परिवर्तन के अलावा कोई और विकल्प नहीं है.

विरोधियों का यह भी कहना था कि अब तक हुई हिंसा के लिए दोषी सुरक्षा अधिकारियों को सज़ा दिए जाने और हिंसा रोकने की कोई बात असद ने नहीं कही है.

31 मई को सीरियाई राष्ट्रपति ने आम माफ़ी की घोषणा की थी और उसके तहत बड़ी संख्या में राजनीतिक बंदियों को रिहा किया गया था लेकिन हज़ारों लोग अब भी सीरिया की जेलों में बंद हैं. मानवाधिकार गुटों का कहना है कि सीरिया में मार्च से लेकर अब तक हुई हिंसा में कम से कम 1300 लोग मारे जा चुके हैं.

संबंधित समाचार