71 करोड़ का वायलिन

वायलिन
Image caption दुनिया में इस समय स्ट्राडिवारियस के बनाये हुए महज़ 600 ही ज्ञात वायलिन मौजूद हैं

जापान के सुनामी पीड़ितों के लिए नीलम किया गया एक स्ट्राडिवारियस वायलिन 9.8 मिलियन पाउंड यानी करीब 71 करोड़ रुपयों से ज़्यादा में नीलम हुआ है.

ये वायलिन वर्ष 1721 में बना था और इसे लेडी ब्लंट के नाम से जाना जाता है.

इसका ये नाम इसलिए पड़ा क्यों की इसके मालिकों में से एक महान अंग्रेज़ कवि लॉर्ड बायरन की पोती एनी बायरन थीं जिनके पास ये वायलिन 30 साल तक था.

इसके पहले 1971 में जब ये वायलिन बिका था तो इसके लिए 84,000 पाउंड चुकाए गए थे.

ये वायलिन पिछले स्ट्राडिवारियस वायलिन की तुलना में करीब चार गुना दामों पर बिका है.

इस नीलामी से आए पैसे को निप्पोन फ़ाउन्डेशन के उत्तरपूर्वी जापान भूकंप और सुनामी राहत कोष में जमा कराया जाएगा.

बेचे जाने के पहले ये वायलिन निप्पोन म्युज़िक फ़ाउन्डेशन के संग्रह का हिस्सा था. निप्पोन म्युज़िक फ़ाउन्डेशन के पास दुनिया के कुछ चुनिंदा स्ट्राडिवारियस और ग्वार्नेरी वायलिनों का संग्रह है.

मदद की ज़रुरत

निप्पोन फ़ाउन्डेशन के अध्यक्ष काज़ूको शिओमी ने कहा, "ये वायलिन हमारे संग्रह के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण था लेकिन मार्च 11 को आई प्राकृतिक आपदा के बाद हमारे देश के लोगों को मदद की बहुत ज़रुरत है. इस पैसे का ज़रूरतमंद लोगों की मदद के लिए तत्काल इस्तेमाल किया जाएगा."

इस वायलिन को नीलाम करने वाले लंदन के एक नीलामी घर तारिसियो का कहना है, "ये वायलिन उनके संग्रह का सबसे उम्दा वायलिन था. इस वायलिन को नीलाम करने का निर्णय महान सदाशयता का काम है."

दुनिया में इस समय स्ट्राडिवारियस के बनाये हुए महज़ 600 ही ज्ञात वायलिन मौजूद हैं.

इस वायलिन के नए मालिक का नाम सार्वजानिक नहीं किया गया है.

संबंधित समाचार