सीरिया में सरकार विरोधी सम्मेलन

  • 27 जून 2011
सीरिया इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption मार्च में पूरे देश में सरकार विरोधी प्रदर्शनों के शुरू होने के बाद पहली बार इस तरह की कोई बैठक हो रही हैं.

सीरिया में सरकार विरोधी राजधानी दमिश्क में एक सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए इकट्ठे हुए हैं.

मार्च में पूरे देश में सरकार विरोधी प्रदर्शनों के शुरू होने के बाद पहली बार इस तरह की कोई बैठक हो रही हैं.

इस सम्मेलन में हिस्सा लेने वालों में अधिकतर लोग वो हैं, जो राजनीतिक गतिविधियों के चलते जेल में कई साल काट चुके हैं , लेकिन न तो ये किसी राजनीतिक दल का प्रतिनिधित्व करते हैं और न ही इन्होंने हाल के सरकार विरोधी प्रदर्शनों में हिस्सा लिया है.

इस सम्मेलन का मक़सद तीन महीने से जारी विरोध प्रदर्शनों और उनसे पैदा हुए राजनीतिक संकट का हल खोजने के बारे में चर्चा करना है. साथ ही ये भी कि कैसे सीरिया में शांतिपूर्ण तरीक़े से लोकतंत्र की बहाली की जाए.

हालांकि अभी ये साफ़ नही है कि आयोजकों ने सम्मेलन के लिए अनुमति ली है या नही. लेकिन सीरिया के अधिकारियों ने इस पर प्रतिबंध नही लगाया है.

बीबीसी संवाददाता जिम म्यूर का आकलन है, "आयोजकों का कहना है कि सरकार ने सम्मेलन आयोजित करने पर प्रतिबंध नहीं लगाया है. अगर ये सम्मेलन संभव होता है तो यह सत्ता पक्ष का विरोध बर्दाश्त करने के बारे में सहनशीलता का संकेत होगा. सरकार ने एक व्यापक सुधार कार्यक्रम तैयार करने के प्रयासों का दावा किया है."

बीबीसी संवाददाता का कहना है कि मार्च में सरकार विरोधी प्रदर्शनों के शुरु होने के बाद पहली बार सरकार के अनेक विरोधी और बुद्धिजीवी जनता के बीच सम्मेलन में हिस्सा ले रहे हैं. लेकिन इस सम्मेलन में सरकार की भागीदारी नही होगी.

सम्मेलन में हिस्सा लेने वाले लोगों को ग़िरफ़्तार किए जाने की संभावना नही है.

विरोध प्रदर्शन

शुक्रवार को सीरिया के राष्ट्रपति बशर अल असद को हटाए जाने की मांग को लेकर हुए प्रदर्शनों में कम से कम 18 लोग मारे गए थे .

राजधानी दमिश्क में कम से कम दो जगहों पर प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिए सुरक्षा बलों ने आंसू गैस के गोले छोड़े और हवा में गोलियां चलाई. होम्स और हमा के अलावा भी कई शहरों में बड़े प्रदर्शन हुए

मानवाधिकार कार्यकर्ताओं का कहना है कि पाँच लोग दमिश्क के पास किस्ब में उस समय मारे गए जब वो नमाज़ पढ कर निकल रहे थे.

उनका कहना है कि पाँच लोग दमिश्क के सीमावर्ती इलाक़ों, छह लोग किस्ब में और सात लोग होम्स शहर के आसपास मारे गए थे.

ट्यूनीशिया और मिस्र में सरकार विरोधी प्रदर्शनों और सत्ता परिवर्तन के बाद सीरिया में तीन महीनों से जारी प्रदर्शनकारियों के दौरान अब तक कम से कम 1300 प्रदर्शनकारियों के मारे जाने की ख़बर है.

प्रदर्शनकारी राष्ट्रपति बशर अल असद का विरोध कर रहे हैं और राजनीतिक सुधारों की मांग कर रहे हैं. असद परिवार पिछले 40 साल से सीरिया में सत्ता में बना हुआ है.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार