महिलाओं को शीर्ष कॉरपोरेट पद

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption मलेशियाई महिलाओं को आगे बढ़ाने की कोशिश

मलेशिया की सरकार का कहना है कि 2016 तक शीर्ष कॉरपोरेट पदों में से 30 फ़ीसदी पद महिलाओं के पास होने चाहिए.

प्रधानमंत्री नजीब रज़ाक ने इसे कंपनियों के बोर्डरूम में लिंग समानता की दिशा में कैबिनेट का ऐतिहासिक फ़ैसला बताया है.

वर्तमान में क़रीब दो सौ सूचीबद्ध कंपनियों में 7.6 फ़ीसदी महिलाएं शीर्ष पदों पर बैठी हैं.

मलेशियाई महिलाओं ने उदारवादी मुस्लिम देश में अच्छी क़ामयाबी हासिल की है. कई महिलाएं इस्लामिक फ़ाइनैंस में महत्वपूर्ण पदों पर हैं.

पुरुषों के वर्चस्व वाले इस वित्तीय क्षेत्र में वो अग्रणी मानी जाती हैं.

भेदभाव नहीं

मलेशिया में शीर्ष महिला इस्लामिक बैंक कर्मियों का कहना है कि उनकी सफलता इस वजह से संभव हुई है क्योंकि महिलाओं और पुरुषों के बीच यहां सार्वजनिक रूप से कोई भेदभाव नहीं किया जाता, जैसा कि ज़्यादा रुढ़िवादी मुस्लिम देशों में होता है.

हालांकि ऐसा होने के बावजूद मलेशिया में शीर्ष कॉरपोरेट पदों पर बैठी महिलाओं की संख्या बहुत कम है.

इसी वजह से सरकार ने कहा है कि वो ऐसी महिलाओं की पहचान और उन्हें प्रशिक्षण देने में कंपनियों की मदद करेगी जिनमें कंपनियों के बोर्डरूम में बैठने की क्षमता है.

सार्वजनिक क्षेत्र में लागू की गई एक ऐसी ही नीति की वजह से 2004 में शीर्ष पदों पर महिलाओं की भागीदारी 19 फ़ीसदी से बढ़कर 32 फ़ीसदी हो गई थी.

संबंधित समाचार