फ़्रांस ने विद्रोहियों को दिए हथियार

  • 29 जून 2011
लीबिया इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption लीबिया के क़बायली विद्रोहियों के लिए हथियार गिराए गए

फ़्रांस की सेना ने इसकी पुष्टि की है कि फ़्रांस ने लीबिया के राष्ट्रपति कर्नल गद्दाफ़ी के ख़िलाफ़ लड़ रहे विद्रोहियों के लिए विमान से हथियार गिराए थे.

सेना का कहना है कि जून के शुरू में नफ़ुसा की पहाड़ियों में रहने वाले बरबर क़बायली लड़ाकों के लिए हल्के हथियार और गोलियाँ भेजी गई थी.

इससे पहले एक फ़्रांसीसी अख़बार ला फ़िगारो ने यह दावा किया था कि गिराए गए हथियारों में रॉकेट लांचर और टैंक रोधी मिसाइल भी थे.

ला फ़िगारो ने यह भी कहा था कि फ़्रांस ने नेटो को इस बारे में कोई जानकारी नहीं थी. लीबिया में चल रही कार्रवाई में फ़्रांस नेटो का अहम हिस्सा है.

आलोचना

फ़्रांसीसी जनरल स्टाफ़ के प्रवक्ता कर्नल थियरी बरखार्ड ने बताया, "हमने पहले मानवीय सहायता जैसे पानी, खाना और चिकित्सा सामग्री गिराई थी. ऑपरेशन के दौरान वहाँ के नागरिकों की स्थिति दयनीय होने लगी. फिर हमने हथियार और गोलियाँ गिराई, जिसका वे आत्मरक्षा में इस्तेमाल कर सकें."

बीबीसी संवाददाता क्रिस्टियन फ़्रेज़र का कहना है कि इस बयान के बाद रूस और चीन जैसे देशों की ओर से नेटो कार्रवाई की आलोचना और तेज़ होगी.

दोनों देश पहले ही कह चुके हैं कि नेटो संयुक्त राष्ट्र प्रस्ताव से आगे निकलकर कार्रवाई कर रहा है.

फ़्रांस ने लीबिया में सैनिक कार्रवाई के लिए समर्थन जुटाने में अहम भूमिका निभाई थी. ब्रितानी और फ़्रांसीसी विमानों ने ही कार्रवाई की शुरुआत भी की थी.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार