इतिहास के पन्नों से

तीन जुलाई का दिन इतिहास के पन्नों में कई कारणों से दर्ज है.

1987 नाज़ी युद्ध अपराधी क्लाउस बार्बी को आजीवन कारावास

Image caption क्लाउस बार्बी को लेयॉन का कसाई भी कहा जाता था

लियों में नाज़ी पार्टी की खुफिया पुलिस के पूर्व प्रमुख क्लाउस बार्बी को मानवता के विरूद्ध अपराध के लिए अदालत ने आजीवन कारावास की सज़ा सुनाई.

क्लाउस बार्बी को लेयॉन का कसाई भी कहा जाता था.

73 साल के क्लाउस बार्बी पर दूसरे विश्व युद्ध के दौरान 842 लोगों को यातना शिविर में भेजने का आरोप लगाया गया था. इन भेजे जाने वाले लोगों में अधिकतर यहूदी थे.

नीदरलैंड में जर्मनी की सेना में कमान संभालने के बाद क्लाउस बार्बी 1942 से 1942 तक नाज़ी पार्टी की ख़ुफ़िया पुलिस के प्रमुख रहे. इस दौरान कुल 373 लोग मारे गए.

इस बात के भी प्रमाण मिले कि क्लाउस बार्बी यातना शिविर में बंद लोगों को ख़ुद ही अमानवीय यातना देता था. इससे पहले भी क्लाउस बार्बी को यु्द्ध अपराध के लिए दो बार मौत की सज़ा सुनाई जा चुकी थी.

1991 में लियों की जेल में ही क्लाउस बार्बी की मौत हो गई.

1988 अमरीकी युद्धपोत ने ईरानी हवाई जहाज़ को मार गिराया

तीन जुलाई को फारस की खाड़ी में गश्त कर रहे अमरीकी नौसेना के युद्धपोत ने ईरान के यात्री हवाई जहाज़ को मार गिराया. अमरीकी नौसेना को लगा कि ये एक एफ-14 लड़ाकू जहाज़ था.

ईरान के इस विमान में तीन सौ यात्री सवार थे और ये दुबई जा रहा था.

अमरीकी युद्धपोत ने रडार के ज़रिए इसका पता लगाया और इस जहाज़ को दूर जाने की चेतावनी दी . पर ऐसा न होने पर युद्धपोत ने निशाना साध कर दो मिसाइल दाग दी.

एक मिसाइल इस यात्री जहाज़ से टकराया और वो हवा में ही नष्ट हो गया.

ईरान ने इस घटना को अमरीका की बर्बरता पूर्ण कार्रवाई कहा. अमरीका के तत्कालीन राष्ट्रपति रोनाल्ड रीगन ने इसे एक दुर्घटना कहा और यात्रियों के मारे जाने पर खेद जताया.

1971 प्रसिद्ध गायक जिम मॉरीसन की मृत्यु

Image caption अमरीकी रॉक बैंड द डोर्स के गायक जिम मॉरिसन पेरिस स्थित अपने घर में मृत पाए गए.

अमरीकी रॉक बैंड द डोर्स के प्रसिद्ध गायक जिम मॉरीसन आज ही के दिन 1971 में पेरिस स्थित अपने घर में मृत पाए गए.

27 साल के जिम मॉरीसन को उनकी महिला मित्र ने बाथ टब में मृत देखा.

डॉक्टरों ने इसकी वजह अत्यधिक शराब पीने की वजह से दिल की धड़कनों का रूक जाना बताया.

लिज़ार्ड किंग के नाम से भी जाने जाने वाले जिम मॉरीसन 1943 में फ़्लोरिडा में पैदा हुए थे.

1965 में उन्होनें रे मनज़ेर्क के साथ मिलकर लॉस एंजेलेस में अपना रॉक बैंड द डोर्स बनाया. इस बैंड के संगीत ने ब्रिटेन, अमरीका समेत पूरी दुनिया में तहलका मचा कर रख दिया.

लेकिन शराब पीने और नशीले पदार्थों के सेवन के चलते की वजह से जिम मॉरीसन को काफ़ी बदनामी भी उठानी पड़ी.

यहां तक कि 1969 में उन्हें प्रशंसकों के साथ दुर्व्यवहार के चलते जेल भी जाना पड़ा. हालांकि बाद में उन पर लगाए कुछ आरोप वापस ले लिए गए.

संबंधित समाचार