संसदीय समिति के सामने पेश होंगे मर्डोक

  • 14 जुलाई 2011
रूपर्ट मरडॉक इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption ऑस्ट्रेलियाई मूल के रूपर्ट मर्डोक के पास अमरीका की नागरिकता है

न्यूज़ कॉर्पोरेशन ने कहा है कि कंपनी के शीर्ष अधिकारी रुपर्ट मर्डोक और उनके पुत्र जेम्स मर्डोक ब्रितानी संसद की मीडिया मामलों की समिति के समक्ष पेश होने को तैयार हैं.

समिति मर्डोक से उनके स्वामित्व वाले अख़बार 'न्यूज़ ऑफ़ द वर्ल्ड' से जुड़े फ़ोन हैकिंग मामले के बारे में अगले सप्ताह पूछताछ करेगी. उल्लेखनीय है कि मर्डोक इस अख़बार को बंद कर चुके हैं.

संसदीय समिति ने पहले मर्डोक पिता-पुत्र को फ़ोन हैकिंग मामले में पूछताछ के लिए आमंत्रित किया था. जब दोनों ने इस आमंत्रण को ठुकरा दिया तो फिर समिति ने उनके नाम सम्मन जारी किए.

मर्डोक की कंपनी न्यूज़ इंटरनेशनल की शीर्ष अधिकारी रेबेका ब्रूक्स पहले ही संसद की संस्कृति, मीडिया और खेल मामलों की समिति के सामने पेश होने की हामी भर चुकी हैं. ब्रूक्स उस दौरान 'न्यूज़ ऑफ़ द वर्ल्ड' की संपादक थीं जब अख़बार के कई पत्रकार फ़ोन हैकिंग कराने में कथित रूप से बेहद सक्रिय थे.

गिरफ़्तारी

इस बीच लंदन की मेट्रोपोलिटन पुलिस ने 'न्यूज़ ऑफ़ द वर्ल्ड' के एक पूर्व वरिष्ठ संपादक नील वैलिस को फ़ोन हैकिंग से जुड़े मामले में गिरफ़्तार किया है.

बंद हो चुके इस अख़बार के पूर्व संपादक एंडी कॉल्सन को पुलिस पहले ही गिरफ़्तार कर चुकी है. हालाँकि बाद में उन्हें ज़मानत पर रिहा कर दिया गया. याद रहे कि अख़बार से इस्तीफ़ा देने के बाद कॉल्सन प्रधानमंत्री डेविड कैमरन के मुख्य मीडिया सलाहकार बन गए थे.

'न्यूज़ ऑफ़ द वर्ल्ड' के कुछ पत्रकारों पर मशहूर हस्तियों और राजनेताओं के साथ-साथ अफ़ग़ानिस्तान में मारे गए सैनिकों और चरमपंथी हमलों के शिकार लोगों के परिजनों के फ़ोन हैक करने के आरोप हैं.

अख़बार के शीर्ष अधिकारियों के बीच ईमेल पत्राचार से कथित रूप से इस बात के भी संकेत मिलते हैं कि पत्रकारों की पुलिस से भी सांठगांठ थी.

मर्डोक के स्वामित्व वाले दो अन्य अख़बारों पर भी अवैध गतिविधियों में शामिल होने के आरोप सामने आए हैं.

संबंधित समाचार