दलाई लामा से न मिलें ओबामा: चीन

दलाई लामा और बराक  ओबामा इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption पिछली बार भी अमरीका ने चीन की चेतावनियों को अनदेखा कर दिया था

चीन ने अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा से अपील की है कि वे निर्वासित तिब्बती आध्यात्मिक नेता दलाई लामा से न मिलें.

चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता हॉन्ग लेई ने कहा है कि राष्ट्रपति ओबामा को ऐसा कुछ नहीं करना चाहिए जिससे चीन के अंदरुनी मामले में दखलंदाज़ी हो.

दलाई लामा से राष्ट्रपति ओबामा शनिवार को मिलने वाले हैं.

इससे पहले फ़रवरी, 2010 में राष्ट्रपति ओबामा और दलाई लामा की मुलाक़ात हुई थी जिसकी चीन ने कड़ी निंदा की थी.

विरोध

चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता हॉन्ग लेई ने सरकारी वेबसाइट पर जारी बयान में कहा है, "हम किसी भी देश के वरिष्ठ अधिकारियों की दलाई लामा से मुलाक़ात का विरोध करते हैं."

हॉन्ग ने अमरीका से अपील की है, "बराक ओबामा जितनी जल्दी हो सके दलाई लामा के साथ अपनी मुलाक़ात रद्द करें और ऐसा कुछ न करें जो चीन के अंदरूनी मामले में दखलंदाज़ी हो और जिससे चीन और अमरीका के रिश्तों को नुक़सान पहुँचे."

लेकिन अमरीकी राष्ट्रपति के कार्यालय व्हाइट हाउस ने इस मुलाक़ात को रद्द करने से इनकार कर दिया है.

व्हाइट हाउस ने एक बयान में कहा है, "ये मुलाक़ात तिब्बत के अद्वितीय धार्मिक, सांस्कृतिक और भाषाई पहचान के प्रति राष्ट्रपति के समर्थन को रेखांकित करती है."

दलाई लामा वर्ष 1959 से भारत में निर्वासित जीवन व्यतीत कर रहे हैं. उनका कहना रहा है कि तिब्बतियों को शांतिपूर्ण ढंग से उनके अधिकार दे देने चाहिए. साथ ही वे चीन के शासन को भी स्वीकार करते हैं.

संबंधित समाचार