हैकिंग पर ब्रितानी संसद की विशेष बैठक

  • 18 जुलाई 2011
इमेज कॉपीरइट none
Image caption इस मामले में विपक्ष के निशाने पर प्रधानमंत्री कैमरन हैं

ब्रिटेन में फ़ोन हैकिंग से जुड़े विवाद पर चर्चा के लिए सरकार बुधवार को संसद की विशेष बैठक बुला रही है.

रूपर्ट मर्डोक की मीडिया कंपनी न्यूज़ इंटरनेशनल के पत्रकारों पर पुलिस की मिलीभगत से ग़ैर-क़ानूनी तरीक़े से लोगों के फोन मैसेज सुनने का आरोप है, इस मामले में न्यूज़ इंटरनेशनल की मुख्य कार्यकारी अधिकारी रेबेका ब्रुक्स सहित अब तक दस लोगों को गिरफ़्तार किया जा चुका है, उन्हें कुछ समय पहले ज़मानत पर रिहा किया गया है.

बताया जा रहा है कि प्रधानमंत्री डेविड कैमरन इस मामले में एक बयान देना चाहते हैं जबकि विपक्ष पूरी बहस की माँग कर रहा है, विपक्ष का कहना है कि न्यूज़ इंटरनेशनल में काम करने वाले वरिष्ठ पत्रकार एंडी कॉलसन को अपना मीडिया सलाहकार बनाकर प्रधानमंत्री ने ग़लती की थी.

भ्रष्टाचार और मीडिया के अनैतिक आचरण का मामला देश की राजनीति को अपनी गिरफ़्त में ले चुका है और दिन ब दिन इसके दायरे में आने वाले प्रभावशाली लोगों की संख्या बढ़ती जा रही है.

न्यूज़ इंटरनेशनल की प्रमुख रेबेका ब्रुक्स जिन्हें देश की सबसे शक्तिशाली शख्सियतों में गिना जाता रहा है, प्रधानमंत्री डेविड कैमरन के मीडिया सलाहकार रहे एंडी कॉलसन पिछले सप्ताह ज़मानत पर रिहा हुए हैं.

लंदन की मेट्रोपॉलिटन पुलिस के प्रमुख सर पॉल स्टीवेंसन को अपने पद से इस्तीफ़ा देना पड़ा है, डेविड कैमरन ने माना है कि इस मामले में राजनीतिक नेताओं से ग़लतियाँ हुई हैं जिनमें वे भी शामिल हैं, उन्होंने पूरे मामले की न्यायिक जाँच के आदेश दे दिए हैं मगर मामला आसानी से ठंडा पड़ता नहीं दिख रहा है.

अफ्रीका का दौरा

विपक्षी लेबर पार्टी के नेता एड मिलिबैंड का कहना है कि जब मेट्रोपॉलिटन पुलिस के प्रमुख सर पॉल स्टीवेंसन अपनी ज़िम्मेदारी स्वीकार करके इस्तीफ़ा दे सकते हैं तो डेविड कैमरन क्यों नहीं.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption मर्डोक मंगलवार को संसद में पेश होंगे

भारी राजनीतिक विवाद के दौर में प्रधानमंत्री डेविड कैमरन अफ्रीका के दौरे पर हैं, पत्रकारों ने उनसे अफ्रीका के बारे में कम और घरेलू राजनीति से जुड़े सवाल अधिक पूछे.

बुधवार को संसद की बैठक से पहले मंगलवार को हाउस ऑफ़ कॉमन्स में रुपर्ट मर्डोक, उनके बेटे जेम्स मर्डोक और कंपनी की सीईओ रेबेका ब्रुक्स की पेशी होगी.

ब्रिटेन के निजी गोपनीयता के क़ानून के तहत फोन हैकिंग अपराध है जबकि न्यूज़ इंटरनेशनल के पत्रकारों पर सैकड़ों लोगों के फ़ोन संदेश एक प्राइवेट डिटेक्टिव एजेंसी की मदद से सुनने का आरोप है, इसके अलावा न्यूज़ इंटरनेशनल पर मेट्रोपॉलिटन पुलिस के लोगों को रिश्वत देकर उनसे गोपनीय सूचनाएँ ख़रीदने के भी गंभीर आरोप लगे हैं.

मर्डोक के शक्तिशाली मीडिया के बड़े अधिकारियों और प्रधानमंत्री सहित अनेक प्रभावशाली लोगों से उनके रिश्तों की वजह से मामला इतना गर्मा गया है.

संबंधित समाचार