रूस में बीयर शराब की श्रेणी में

बीयर इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption रूस में बेधड़क बीयर की बिक्री होती है

रूस में अभी तक बीयर को अल्कोहल की श्रेणी में नहीं रखा गया था, लेकिन अब राष्ट्रपति दमित्रि मेदवेदेव ने एक विधेयक पर दस्तख़त किए हैं, जिससे बीयर भी शराब की श्रेणी में शामिल हो जाएगा.

रूस में 10 प्रतिशत से कम अल्कोहल वाली कोई भी चीज़ को खाद्य पदार्थों की श्रेणी में रखा जाता है.

बुधवार को इस विधेयक पर दस्तख़त कर दिए गए हैं. इस क़ानून के तहत बीयर की बिक्री पर भी उसी तरह का नियंत्रण रखा जा सकेगा, जैसा शराब की बिक्री पर है.

रूस में शराब का सेवन विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्लूएचओ) की ओर से तय ख़तरनाक स्तर से दोगुना ज़्यादा है.

समस्या

हालाँकि रूस में पारंपरिक रूप से प्रचलित पेय वोदका है लेकिन बीयर की लोकप्रियता काफ़ी बढ़ी है. बीयर की मार्केटिंग यह कहकर की जाती है कि यह शराब का गुणकारी विकल्प है.

पिछले दशक के दौरान रूस में बीयर की बिक्री 40 प्रतिशत बढ़ी है, जबकि वोदका की बिक्री में 30 फ़ीसदी की गिरावट आई है.

बीबीसी संवाददाताओं का कहना है कि रूस में सड़कों, गलियों और पार्कों में लोगों को ऐसे बीयर की चुस्की लगाते देखा जा सकता है, जैसे वे कोई सॉफ़्ट ड्रिंक पी रहे हों.

बीयर की बिक्री ख़ास स्टोर्स तक सीमित नहीं है और चौबीसो घंटे इसकी बिक्री होती है.

पिछले साल बीयर की खपत कम करने के उद्देश्य से बीयर इंडस्ट्री के टैक्स में 200 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी की गई थी.

नए क़ानून वर्ष 2013 से लागू होगा और इसके तहत सिर्फ़ लाइसेंस वाली दूकानों में ही बीयर की बिक्री हो पाएगी.

संबंधित समाचार