मेरा दिमाग़ बिलकुल दुरुस्त है: सुरेश कलमाड़ी

सुरेश कलमाड़ी इमेज कॉपीरइट Reuters

उन कयासों के बीच की वे डेमेनशिया यानी भूलने की बीमारी से ग्रसित हैं, राष्ट्रमंडल खेल आयोजन समीति के पूर्व प्रमुख सुरेश कलमाड़ी ने कहा है कि उन्हें ऐसी कोई तकलीफ नहीं है.

राष्ट्रमंडल खेलों के आयोजन के दौरान हुई कथित वित्तीय अनियमितताओं के आरोपों से घिरे लोक सभा सांसद सुरेश कलमाड़ी इन दिनों तिहाड़ जेल में हैं.

गुरूवार को उन्हें दिल्ली में ही अखिल भारतीय चिकित्सा अनुसंधान केंद्र यानी ऐम्स में जांच के लिए ले जाया गया था.

स्थानीय अख़बारों के मुताबिक़ ऐम्स में डाक्टरों ने करीब एक घंटे तक सुरेश कलमाड़ी की जांच की.

जांच के बाद अस्पताल में मौजूद पत्रकारों से बात करते हुए सुरेश कलमाड़ी ने खुद को डेमेनशिया का मरीज़ मानने से साफ़ इंकार किया.

उन्होंने कहा, "मेरा दिमाग और मेरा मस्तिष्क सब ठीक हैं. मुझे सब याद है और इस बात में कोई शक नहीं है."

विवादों से घिरे सुरेश कलमाड़ी पिछले करीब 15 वर्षों से मधुमेह और उच्च रक्तचाप से ग्रसित रहे हैं.

कुछ ख़बरों में ऐसा भी बताया गया है कि करीब पांच साल पहले सुरेश कलमाड़ी के ह्रदय का ऑपरेशन भी हुआ था.

'संसद सत्र में मौजूदगी'

इसी बीच गुरूवार को ही सुरेश कलमाड़ी के वकीलों ने दिल्ली उच्च न्यायालय से पहली अगस्त को शुरू हो रहे संसद सत्र में भाग लेने के लिए आज्ञा लेने की अर्ज़ी दायर की है.

गुरूवार को सुरेश कलमाड़ी ने सीबीआई की विशेष अदालत से संसद कार्रवाई में भाग ले पाने की अर्ज़ी ये कहते हुए वापस ले ली थी कि मामले में आदेश उच्च न्यायलय दे सकता है. साल 2010 में राजधानी दिल्ली में हुए राष्ट्रमंडल खेलों की तैयारी और खेलों के दौरान हुई कथित वित्तीय अनियमितताओं के चलते सुरेश कलमाड़ी और उनके सहयोगियों पर सीबीआई ने चार्जशीट दायर की थी और बाद में उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया था.

सुरेश कलमाड़ी के अलावा राष्ट्रमंडल खेल आयोजन समीति के उन्हें सहयोगी ललित भनोट भी इन दिनों दिल्ली की तिहाड़ जेल में हैं.

संबंधित समाचार