'इराक़ में स्थिति पिछले साल से ज़्यादा ख़तरनाक'

इराक़ इमेज कॉपीरइट Reuters

इराक़ मामलों पर अमरीका के एक वरिष्ठ सलाहकार ने अमरीकी सेना पर इराक़ में बढ़ती हिंसा पर गंभीरता से ध्यान न देने के आरोप लगाए हैं.

ये आरोप ऐसे समय में आए हैं जब इराक़ से अमरीकी सेनाओं के वापस लौटने में कुछ ही महीने बचे हैं.

इराक़ में पुनर्निर्माण कार्य पर अमरीका के महानिरीक्षक स्टुअर्ट डब्लू बॉवन जूनियर ने एक रिपोर्ट जारी की है जो कहती है कि पिछले साल के मुक़ाबले इस साल इराक़ में हालात ज्यादा ख़तरनाक हैं.

उन्होंने कहा है कि बग़दाद में होने वाले हमलों के अलावा इराक़ में वरिष्ठ अधिकारियों और अमरीकी सैनिकों की हत्याओं में बढ़ोत्तरी हुई है.

ये रिपोर्ट आम तौर पर बेहतर आंकड़े दिखाने वाले अमरीकी सेना के आंकलनों से भिन्न है.

ग़ौरतलब है कि ये चौंकाने वालीं रिपोर्ट तब आई है जब अमरीका इराक़ में तैनात अपने बचे हुए 45,000 सैनिकों को साल के अंत तक वापस बुलाने की तैयारी कर रहा है.

हत्याएं

अमरीकी संसद को भेजी गई अपनी तिमाही रिपोर्ट में स्टुअर्ट डब्लू बॉवन जूनियर ने लिखा है, "मेरे हिसाब से इराक़ फिलहाल पिछले साल से भी ज्यादा असुरक्षित जगह है. वहां पर काम करना बहुत ही ख़तरनाक है."

रिपोर्ट में इसी साल जून महीने में हुई 15 अमरीकी सैनिकों की हत्या का भी ज़िक्र है.

रिपोर्ट में ये भी कहा गया है कि पिछले वर्षों की तुलना में पिछले कुछ महीनों में इराक़ में ज्यादा सरकारी अधिकारियों की हत्याएं हुईं हैं.

रिपोर्ट में उत्तर-पूर्वी इराक़ी इलाके दियाला के बारे में भी ख़ास तौर पर टिपण्णी की गयी है.

रिपोर्ट के मुताबिक़ लगातार होते रहते बम धमाकों के कारण इरान की सीमा से सटा ये इलाका 'बेहद अशांत' है.

हालाँकि रिपोर्ट ये भी कहती है कि इराक़ में अब हत्याओं को अंजाम देने के तरीके में बदलाव देखने को मिल रहे हैं.

इसके मुताबिक़ बम धमोकों में कमी आई है लेकिन सुरक्षा बलों और सरकारी अधिकारियों के निशाना बनने की घटनाओं में वृद्धि भी दर्ज की गई है.

संबंधित समाचार