भालुओं को पिलाई जाती है शराब...

इमेज कॉपीरइट Unian

यूक्रेन में निजी चिड़ियाघरों और रेस्तरां में मनोरंजन के लिए रखे जाने वाले भालुओं को अब रिहाई मिलेगी.

पर्यावरण मंत्री माइकोला ज़लोचवेस्की का कहना है कि इनमें से कई भालुओं को बुरे तरीके से रखा जाता था और ज़बरदस्ती शराब पिलाई जाती थी.

एजेंसी इंटरफ़ैक्स के मुताबिक उन्होंने कहा, “आख़िर तब तक रेस्तरां में जानवरों के प्रति अत्याचार को सहा जा सकता है. शराब के नशे में धुत मेहमान होटलों में हँसी मज़ाक के लिए भालुओं को शराब पिलाते हैं. टीवी पर भी ये दिखाया जा चुका है.”

मंत्री ने कहा है कि करीब 80 भालू अभ्यारण्यों में भेजे जाएँगे जहाँ उनके लिए अलग परिसर बनाया जाएगा.

अधिकारियों ने ऐसे कई भालुओं को पता लगाया है जिन्हें ग़लत तरीके से रखा गया है.

रूसी साम्राज्य के दौरान पकड़े गए भालुओं का इस्तेमाल मनोरंजन के लिए किया जाता था और यूक्रेन भी उसका हिस्सा था. लेकिन पर्यावरण मंत्री का कहना है कि आज के दौर में ये तरीका स्वीकार नहीं किया जा सकता.

संबंधित समाचार