इतिहास के पन्नों से

अमरीका में चार अगस्त के दिन तीन नागरिक अधिकार कार्यकर्ताओं के शव मिले थे जबकि ब्रिटेन की क्वीन मदर ने साल 2000 में अपना 100वां जन्मदिन मनाया.

1964: तीन नागरिक अधिकार कार्यकर्ताओं के शव मिले

Image caption कई सालों बाद ‘मिसीसिपी बर्निंग’ नामक फिल्म बनी जिसमे एफ़बीआई जांच की प्रक्रिया को दर्शाया गया था.

अमरीका में छह हफ़्तों से लापता तीन नागरिक अधिकार कार्यकर्ताओं के शव फिलाडेल्फि़या के एक निर्माणाधीन बाँध के निकट ज़मीन में दफ़न की गई अवस्था में मिले.

अमरीकी जांच एजेंसी एफ़बीआई के एजेंटों ने इन तीन युवा लोगों के शव उसी इलाके के पास बरामद किए जहाँ से ये 21 जून को लापता हुए थे.

माईकेल श्च्वेर्नर और एन्ड्रयु गुडमैन न्यू यॉर्क के रहने वाले थे जबकि जेम्स चेनी मिसीसिपी के नागरिक थे.

ये तीनों व्यक्ति जातीय भेदभाव के खिलाफ़ शांतिपूर्ण विरोध करने वाली संस्था 'कोर' के सदस्य थे.

जैसे ही इन तीन कार्यकर्ताओं के गुमशुदा होने की बात पता चली, इन्हें ढूंढ़ निकालने का मिशन अमरीकी ख़ुफ़िया तंत्र की प्राथमिकता बन गया.

एफ़बीआई एजेंट्स को एक सूत्र से इस बात की जानकारी मिल गई थी कि इन तीनों व्यक्तियों के ग़ायब होने के दो दिन बाद ही इन लोगों की कार जली अवस्था में बरामद हुई.

घटना के कई सालों बाद ‘मिसीसिपी बर्निंग’ नामक फिल्म बनी जिसमे एफ़बीआई जांच की प्रक्रिया को दर्शाया गया था.

2000: क्वीन मदर ने मनाया सौंवा जन्मदिन

पूरे ब्रिटेन में चार अगस्त 2000 को क्वीन मदर एलिज़ाबेथ का सौंवा जन्मदिन मनाया गया. क्वीन मदर शाही घराने की पहली सदस्य हैं जिन्होंने अपनी आयु के सौ वर्ष पूरे किए..

Image caption क्वीन मदर शाही घराने की पहली सदस्य हैं जिन्होंने अपनी आयु के सौ वर्ष पूरे किए हैं.

ख़ुशी के इस मौक़े पर लंदन में क्वीन मदर के आवास क्लैरेंस हॉउस में तमाम तोहफ़े और कार्ड भेजे गए.

सबकी बधाईयाँ लेने के बाद दोपहर में अपने सबसे पसंदीदा पौत्र प्रिंस चार्ल्स के साथ क्वीन मदर बकिंघम पैलेस के लिए अपनी शाही बग्घी में रवाना हुईं थीं.

रास्ते के दोनों ओर सड़कों के किनारे क़रीब 40,000 लोगों का हुजूम जमा थे.

बकिंघम पैलेस पहुँचने के बाद पूरे शाही परिवार ने महल के छज्जे पर आकर लोगों का अभिवादन किया और दर्शकों से मुख़ातिब हुए.

जश्न का सिलसिला सिर्फ लंदन तक सीमित नहीं रहा बल्कि स्कॉटलैंड में भी कई आयोजन समारोह हुए.

संबंधित समाचार