लंदन में दंगे और फैले

  • 9 अगस्त 2011
हैकनी में सड़कों पर पुलिस इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption लंदन के हैकनी इलाक़े में पुलिस बड़ी संख्या में तैनात है

लंदन में लगातार तीसरे दिन भी दंगे और लूटपाट की घटना हुई हैं जिसके बाद शहर की सड़कों पर दंगा निरोधक पुलिस दस्ते तैनात किए गए हैं.

लुइशम क्षेत्र में कारों को आग लगा दी गई जबकि पेकहम में एक बस और एक दुकान को फूँक दिया गया. क्रॉयडन में भी एक फ़र्नीचर की दुकान को आग के हवाले कर दिया गया है.

हैकनी इलाक़े में पुलिस ने मेयर स्ट्रीट के कुछ हिस्सों को बंद कर दिया है क्योंकि वहाँ युवाओं ने पुलिस कार के शीशे तोड़ डाले.

वहाँ पर दंगे तब फैल गए जब पुलिस ने हैकनी में एक आदमी को रोककर उसकी तलाशी ली, हालाँकि उसके पास से कोई भी आपत्तिजनक चीज़ नहीं बरामद हुई.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption लोगों ने दुकानों में घुसकर लूटपाट करनी शुरू कर दी है

ब्रिटेन में इस दंगे के दूसरे शहरों में भी फैलने की आशंका को देखते हुए पुलिस को दंगा नियंत्रक उपकरणों के साथ बर्मिंघम सिटी सेंटर में भी तैनात किया गया है. वहाँ कुछ युवाओं ने एक बाज़ार में लूटपाट करने की कोशिश की थी.

गिरफ़्तारी

इटली में छुट्टियाँ मना रहे प्रधानमंत्री डेविड कैमरन ने हिंसा की इन ताज़ा वारदात के बाद छुट्टियाँ रद्द कर दी हैं और वह वापस लौटकर हालात का जायज़ा ले रहे हैं.

लंदन के मेयर बोरिस जॉनसन छुट्टियाँ रद्द करके शहर लौट रहे हैं. गृह मंत्री टेरेसा मे भी छुट्टियाँ बीच में ही छोड़कर वापस आ गई हैं और उन्होंने मेट्रोपॉलिटन पुलिस के अधिकारियों के साथ बैठक की है.

मे ने इन दंगों की आलोचना की है और कहा है कि ज़िम्मेदार लोग अपने काम के नतीजे भुगतेंगे.

स्कॉटलैंड यार्ड के कार्यवाहक आयुक्त टिम गुडविन ने लोगों से अपील की है कि वे अपने बच्चों से संपर्क में रहें और लोग लंदन की सड़कों पर न उतरें.

हैकनी क्षेत्र में 200 पुलिस अधिकारी युवाओं के साथ भिड़े हैं जिन्होंने गाड़ियों को आग लगाने की कोशिश की.

पिछले दो दिनों में लंदन में 215 लोग गिरफ़्तार हुए हैं जबकि 25 लोगों पर दंगे फैलाने का आरोप लगाया गया है.

दरअसल दंगे सप्ताहांत के दौरान भड़क गए थे जबकि पुलिस ने टॉटनहम क्षेत्र में एक व्यक्ति को गोली मार दी थी.

कार्रवाई

गृह मंत्री मे ने कहा, "टॉटनहम में शनिवार को हुए दंगे और उसके बाद लंदन शहर के दूसरे हिस्सों में हुई अस्थिरता किसी भी क़ीमत पर स्वीकार्य नहीं है."

टॉटनहम में मारा गया व्यक्ति 29 वर्षीय मार्क डगन था और इसके बाद लोगों ने वहाँ शांतिपूर्ण ढंग से विरोध प्रदर्शन भी किए थे मगर उसके बाद वहाँ हिंसा फैल गई.

मेट्रोपॉलिटन पुलिस के सहायक आयुक्त स्टीफ़न कवाना ने कहा कि सड़कों पर काफ़ी पुलिसकर्मी उतारे गए हैं.

उनका कहना था, "मेट्रोपॉलिटन पुलिस ने और अधिकारी बड़ी तादाद में भेजे हैं. जब बड़ी संख्या में अपराधी इस तरह की हिंसा करना चाहते हों तो हम सिर्फ़ यही कर सकते हैं कि वहाँ जल्दी से जल्दी अधिक से अधिक पुलिस अधिकारी भेजें जिससे स्थानीय व्यापारियों और लोगों की मदद हो सके."

उन्होंने माना कि मारे गए व्यक्ति और पुलिस के बीच संबंधों को और बेहतर ढंग से देखा जा सकता था.

संबंधित समाचार