त्रिपोली के कई इलाक़ों में भीषण लड़ाई

त्रिपोली

लीबिया की राजधानी त्रिपोली में अब भी कर्नल गद्दाफ़ी समर्थक सेना और विद्रोहियों के बीच लड़ाई जारी है. एक दिन पहले ही विद्रोहियों ने कर्नल गद्दाफ़ी के परिसर पर हमला किया था.

बीबीसी संवाददाताओं का कहना है कि त्रिपोली में भीषण लड़ाई चल रही है. विद्रोही गद्दाफ़ी समर्थक सेना को खदेड़ना चाहते हैं. त्रिपोली के अलावा आसपास के कई इलाक़ों में भी गोलीबारी हो रही है.

कर्नल गद्दाफ़ी के समर्थकों के एक होटल में फँसे कई विदेशी पत्रकार वहाँ से निकल गए हैं.

इस बीच त्रिपोली के अधिकतर हिस्से पर विद्रोहियों के नियंत्रण के बाद अब नेशनल ट्रांजिशनल काउंसिल ने घोषणा की है कि वह मुख्यालय बेनगाज़ी से त्रिपली लाने की तैयारी कर रहा है.

विद्रोहियों का नेतृत्व करने वाले इस संगठन के एक प्रवक्ता ने बीबीसी को बताया है कि कई नेता पहले से ही राजधानी में हैं जबकि अन्य नेता त्रिपली के लिए निकल पड़े हैं.

गोलीबारी

लेकिन मौक़े पर मौजूद बीबीसी संवाददाता का कहना है कि अब भी त्रिपली के कई हिस्सों में विद्रोहियों को कर्नल गद्दाफ़ी के समर्थकों की गोलीबारी का सामना करना पड़ रहा है.

विद्रोहियों का अनुमान है कि त्रिपली पर कब्ज़े के लिए रविवार से शुरू हुई लड़ाई में अब तक 400 से अधिक लोग मारे जा चुके हैं और हज़ारों लोग घायल हुए हैं.

अभी तक ये स्पष्ट नहीं है कि कर्नल गद्दाफ़ी के कितने समर्थक विद्रोहियों को चुनौती दे रहे हैं.

इस बीच विद्रोहियों ने कहा है कि वे कर्नल गद्दाफ़ी की तलाश तेज़ कर रहे हैं, पहले कहा जा रहा था कि गद्दाफ़ी त्रिपली के पास किसी फार्म में छिपे हुए हैं लेकिन अब विद्रोहियों का कहना है कि उनके छिपने के ठिकाने के बारे में कोई जानकारी नहीं है.

कर्नल गद्दाफ़ी अब भी विद्रोहियों को ललकार रहे हैं, उन्होंने एक ऑडियो संदेश भेजा है जिसे कई टीवी चैनलों ने प्रसारित किया है, इस संदेश में कर्नल गद्दाफ़ी ने कहा- "मैं कबायली लोगों से अनुरोध कर रहा हूँ कि वे इन गिरोहों के ख़िलाफ़ हथियार उठाएँ. नौजवानों से अपील है कि वे मुक़ाबला करें और इन गिरोहों के क़ैदी न बनें, जिंतान, सबा, गफ़ारा देश के हर कोने से लोग त्रिपली की ओर कूच करें".

मुक़दमा

विद्रोहियों के नेताओं का कहना है कि कर्नल गद्दाफ़ी का शासन पक्के तौर पर ख़त्म हो गया है लेकिन उनका पकड़ा जाना बेहद ज़रूरी है ताकि उनके ख़िलाफ़ मुकदमा चलाया जा सके.

लंदन में मौजूद विद्रोहियों के नेता जुमा अल जमाती ने कहा कि कर्नल गद्दाफ़ी से अब कोई ख़तरा नहीं है, उनका शासन ख़त्म हो गया है लेकिन लीबिया की जनता को आश्वस्त करने के लिए उनका पकड़ा जाना ज़रूरी है.

इस बीच नेशनल ट्रांजिशनल काउंसिल के नेता क़तर में खाड़ी के देशों और पश्चिमी देशों के प्रतिनिधियों के साथ एक बैठक कर रहे हैं, काउंसिल के एक नेता का कहना है कि लीबिया के पुनर्निर्माण के लिए तत्काल आर्थिक सहायता के मुद्दे पर बातचीत हो रही है.

काउंसिल के नेता महमूद जिब्रील ने कहा है कि वे ढाई अरब डॉलर की सहायता माँगने वाले हैं.

अंतरराष्ट्रीय राहत एजेंसियों का कहना है कि बड़ी संख्या में घायलों को मेडिकल सहायता पहुँचाने की कोशिश में लड़ाई जारी रहने की वजह से बाधा आ रही है.

संबंधित समाचार