'त्रिपोली में ही हो सकते हैं गद्दाफ़ी'

लीबिया में विद्रोही लड़ाके इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption गद्दाफ़ी के शहर सिर्ते पर चढ़ाई की तैयारी करते विद्रोही लड़ाके

लीबिया में विद्रोहियों का कहना है कि कर्नल गद्दाफ़ी अब भी राजधानी त्रिपोली में ही कहीं छिपे हो सकते हैं.

पहली बार गद्दाफ़ी के छिपने के संभावित स्थानों पर बात करते हुए लीबियाई विपक्ष के प्रवक्ता ने बीबीसी को बताया है कि उन्हें लगता है कि गद्दाफ़ी शायद अपने गृह शहर सिर्ते में नहीं हैं.

सिर्ते में गद्दाफ़ी के वफ़ादार विद्रोहियों को कड़ी टक्कर दे रहे हैं.

विपक्ष के प्रवक्ता ने आशंका जताई है कि गद्दाफ़ी की पत्नी, बेटी और अन्य वरिष्ठ सहयोगी एक सैनिक टुकड़ी के साथ पड़ोसी देश अल्जीरिया भाग गए हैं.

लेकिन अल्जीरियाई सरकार ने ऐसी किसी संभावना ने साफ़ इंकार किया है.

भारी किल्लत

उधर राजधानी त्रिपोली में रोज़मर्रा की चीज़ों की भारी किल्लत का सामना कर रहे नागरिकों को विपक्षी प्रशासन ने सहयोग देने की बात की है.

लीबियाई विपक्ष ने वादा किया है कि वे किल्लत का सामना करने के लिए लोगों को ईंधन, पानी और दवाईयां बांटेंगे. हालांकि नेशनल ट्रांज़िशनल काउंसिल के महमूद शम्माम ने चेताया है कि लोग किसी चमत्कार की आस में ना रहे हैं.

त्रिपोली में पहली बार पत्रकार वार्ता को संबोधित करते हुए महमूद शम्माम ने कहा, “त्रिपोली शहर 42 साल तक तानाशाही के चंगुल में रहा है. हम शून्य से शुरूआत कर रहे हैं. किसी चमत्कार की उम्मीद में ना रहें लेकिन हम वादा करते हैं कि हम इस मुश्किल वक़्त ज़्यादा लंबा नहीं खिंचने देंगे. ”

उन्होंने कहा कि विपक्षी प्रशासन के पास 30 हज़ार टन पेट्रोल है जिसे वो शनिवार से ही जनता में बांटना शुरू कर देंगे. इसके अलावा रविवार से डीज़ल भी पहुंच रहा है ताकि बिजली की कमी को पूरा किया जा सके.

शम्माम ने कहा कि दो दिन के भीतर त्रिपोली में खाने की गैस भी बांटी जाएगी.

संबंधित समाचार