आयरिन ने मचाई तबाही

Image caption आयरिन तूफान से लाखों लोग प्रभावित हुए हैं.

अमरीका के पूर्वी तट पर आया तूफान आयरिन अब कनाडा की तरफ बढ़ गया है. तूफ़ान ने काफी तबाही मचाई है और इसमें अब तक 21 लोगों के मारे जाने की पुष्टि हुई है.

इसके अलावा कई इलाक़ों में बाढ़ आने और पानी भरने की ख़बर है जबकि क़रीब पाँच लाख घरों में बिजली नहीं है.

अधिकारियों की आशंका के विपरीत तूफ़ान ने न्यूयॉर्क को कम प्रभावित किया है. आशंका थी कि तूफान शहर को बहुत भयंकर नुकसान पहुंच सकता है. शहर से निकाले गए क़रीब तीन लाख लोगों को वापस अपने घरों में जाने की अनुमति दी गई है.

हालांकि ऐसा नहीं हुआ. शहर की सुरंगे और पावर ग्रिड में पानी नहीं भरा है और माना जा रहा है कि न्यूयॉर्क में लोग सुबह सुबह काम पर जा सकेंगे.

हो सकता है कि अंडरग्राउंड ट्रेन सुविधाएं सुबह में न चलें क्योंकि ट्रैकों की जांच की जा रही है.

आयरिन का सबसे अधिक असर न्यू जर्सी और वरमोंट जैसे उपनगरीय शहरों में हुआ है जहां बारिश और बाढ़ के कारण हज़ारों घरों को नुकसान पहंचा है और लाखों घरों में बिजली की आपूर्ति बंद हो गई है.

आयरिन से अटलांटिक तट पर कम से कम साढ़े छह करोड़ लोगों पर खतरा था. किसी एक तूफान से पहली बार इतनी बड़ी संख्या में लोगों के प्रभावित होने का खतरा बना था.

आयरिन भले ही कनाडा की तरफ चला गया हो लेकिन कई नदियों में पानी भर चुका है और हो सकता है कि तटबंध टूटें और शहरों में पानी भर आए.

राष्ट्रपति बराक ओबामा ने चेतावनी दी है कि आने वाले कुछ दिनों में लोगों को आयरिन के प्रभाव से निपटना होगा.

संबंधित समाचार