लीबिया में संयुक्त राष्ट्र की 'योजना' लीक

इमेज कॉपीरइट Getty

लीक हुए एक दस्तावेज़ से लीबिया में स्थायित्व लाने के लिए सुंयुक्त राष्ट्र की संभावित योजना का पता चला है.

गद्दाफ़ी का परिवार अल्जीरिया भागा

इसके मुताबिक संयुक्त राष्ट्र संघर्ष ख़त्म होने के बाद वहाँ 200 सैन्य पर्यावेक्षक और 190 पुलिसकर्मी तैनात करेगा ताकि लीबिया में स्थायित्व आ सके. हालांकि संयुक्त राष्ट्र ने इसकी पुष्टि नहीं की है.

ये रिपोर्ट ‘इनर सिटी प्रेस’ वेबसाइट पर छपी है जो संयुक्त राष्ट्र से छुड़ी ख़बरें छापती है.

माना जा रहा है कि ये रिपोर्ट उस टीम ने लिखी है जिसे संयुक्त राष्ट्र महासचिव ने गठित किया था. इसका काम लीबिया में यूएन की नई भूमिका के बारे में अनुशंसाएँ तैयार करना था.

ये रिपोर्ट एक आंतरिक योजना देस्तावेज़ लग रही है जिसके आधार पर लीबिया में आगे की कार्ययोजना बनाई जानी है.

इसमें सुझाव दिया गया है कि संघर्ष ख़त्म होने के बाद लीबिया में पहले तीन महीनों के लिए 61 लोगों का दल तैनात किया जाएगा ताकि लीबियाई विद्रोही लोकतांत्रिक प्रणाली अपना सकें.

मदद की योजना

इसके बाद 200 ग़ैर-हथियारबंद सैन्य पर्यवेक्षक तैनात करने की सिफ़ारिश है. इस दल का मकसद ये निगरानी करना है कि गद्दाफ़ी समर्थकों के साथ कैसा बर्ताव किया जाता है. लीबियाई सुरक्षाकर्मियों को प्रशिक्षित करने के लिए संयुक्त राष्ट्र के 190 पुलिसकर्मी भी रहेंगे.

दस्तावेज़ के मुताबिक ये तब तभी लागू किया जाएगा अगर लीबिया की अस्थाई परिषद इसका अनुरोध करती है और इसे संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद मंज़ूरी देती है. रिपोर्ट में कहा गया है कि अगर लीबिया में कोई बड़ी घटना होती है जिससे अस्थिरता पैदा हो, तो इससे निपटना संयुक्त राष्ट्र के लिए मुमकिन नहीं होगा.

दस्तावेज़ के अनुसार ऐसे परिदृश्य में नैटो अपनी भूमिका निभाता रहेगा क्योंकि गद्दाफ़ी के जाने के बाद भी नागरिकों की सुरक्षा करने का उसका काम ख़त्म नहीं होगा.

इनर सिटी प्रेस वेबसाइट पर छपी रिपोर्ट में ये भी बताया गया है कि कैसे लीबिया में अंतरिम राष्ट्रीय कांग्रेस के चुनाव में मदद की जाए ताकि वो संविधान का मसौदा तैयार कर सके.

संबंधित समाचार