गद्दाफ़ी के बेटों के अलग-अलग दावे

सैफ़ अल इस्लाम इमेज कॉपीरइट afp

लीबिया में कर्नल गद्दाफ़ी के दो बेटों ने अलग-अलग संदेश दिए हैं. एक बेटे ने जहाँ विद्रोहियों से लड़ाई जारी रखने की बात कही है, तो दूसरे ने विद्रोहियों के साथ बातचीत का संकेत दिया है.

अरबी टीवी चैनल अल अरबिया का कहना है कि कर्नल गद्दाफ़ी के बेटे सादी गद्दाफ़ी ने दावा किया है कि उन्हें विद्रोहियों के साथ बातचीत के लिए अधिकृत किया गया है और वे विपक्षी कमांडर से संपर्क में हैं.

लेकिन दूसरी ओर एक अन्य अरबी टीवी चैनल अल राई को भेजे अपने ऑडियो संदेश में कर्नल गद्दाफ़ी के एक अन्य बेटे सैफ़ अल इस्लाम ने लड़ाई जारी रखने की प्रतिबद्धता जताई है.

अपने संदेश में सैफ़ अल इस्लाम ने कहा है कि वे त्रिपोली के इलाक़े से बोल रहे हैं. उन्होंने अपने संदेश में लोगों को आश्वस्त किया है कि उनकी सेना अच्छा कर रही है.

उन्होंने कहा, "हम जल्द ही ग्रीन स्क्वेयर पर आकर आपका अभिनंदन करेंगे. प्रतिरोध जारी है और विजय क़रीब है."

इस बीच गद्दाफ़ी समर्थकों को शनिवार से पहले हथियार डालने के लिए अल्टीमेटम दिया गया है. लीबिया के अंतरिम नेताओं ने स्पष्ट किया है कि वे बातचीत करने में रुचि नहीं रखते.

विद्रोही कमांडरों का कहना है कि वे सियर्ट शहर को घेरने के लिए आगे बढ़ रहे हैं. सियर्ट कर्नल गद्दाफ़ी का जन्मस्थान है और ये उन कुछ स्थानों में से एक है, जिनपर अभी पर गद्दाफ़ी समर्थकों का नियंत्रण है.

लेकिन अपने संदेश में गद्दाफ़ी के बेटे सैफ़ अल इस्लाम ने विद्रोहियों को चेतावनी दी है. उनका कहना है कि सियर्ट की रक्षा के लिए 20 हज़ार हथियारबंद लोग तैयार बैठे हैं.

त्रिपोली से बीबीसी संवाददाता केविन कोनोली का कहना है कि राजधानी की हालत स्थिर लगती है और लोगों को सैफ़ अल इस्लाम की धमकी भ्रमित करने वाली लगती है.

गद्दाफ़ी का परिवार भी विभाजित दिख रहा है. गद्दाफ़ी के बेटों के संदेशों के बीच ऐसी ख़बरें हैं कि विद्रोहियों ने कर्नल गद्दाफ़ी के विदेश मंत्री अब्देल अती ओबैदी को पकड़ लिया है.

लेकिन अभी भी गद्दाफ़ी के बारे में कोई जानकारी नहीं मिल पाई है. सोमवार को कर्नल गद्दाफ़ी की पत्नी और उनके तीन बच्चे अल्जीरिया चले गए थे.

संबंधित समाचार