सैफ़ ने कहा संघर्ष, सादी ने कहा बातचीत

इमेज कॉपीरइट Reuters

मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक कर्नल गद्दाफ़ी ने अपने गृह नगर सिर्यट के लोगों को रेडियो पर संबोधित किया है.उन्होंने लोगों से कहा है कि वे विद्रोहियों के सामने हथियार न डालें.

माना जा रहा है कि ये संदेश मंगलवार रात को प्रसारित किया गया था. इसमें गद्दाफ़ी ने सियर्ट के नागरिकों को आगाह किया कि विद्रोहियों ने शनिवार तक आत्मसमर्पण करने की जो समयसीमा दी है, वो असल में एक चकमा है ताकि सबकी हत्या की जा सके.

वहीं कर्नल गद्दाफ़ी के बेटों ने भी अलग-अलग संदेश दिए हैं. एक ने संघर्ष की वकालत की है, तो दूसरे ने बातचीत की पैरवी की है.

अरबी टीवी चैनल अल राई को भेजे अपने ऑडियो संदेश में कर्नल गद्दाफ़ी के बेटे सैफ़ अल इस्लाम ने लड़ाई जारी रखने की प्रतिबद्धता जताई है. जबकि अरबी टीवी चैनल अल अरबिया के मुताबिक गद्दाफ़ी के बेटे सादी गद्दाफ़ी ने दावा किया है कि उन्हें विद्रोहियों के साथ बातचीत के लिए अधिकृत किया गया है.

सैफ़ अल-इस्लाम गद्दाफ़ी ने कहा है कि वे ये बातें त्रिपोली के बाहरी इलाक़े से कर रहे हैं और कर्नल गद्दाफ़ी ठीक हैं. अपने ऑडियो संदेश में सैफ़ ने कहा, “हमारी लड़ाई जारी है, जीत बहुत करीब.”

मतभेद

बीबीसी संवाददाता केविन कॉनली का कहना है कि सैफ़ की बातों में भ्रान्ति का पुट नज़र आता है.

संवाददाता के मुताबिक गद्दाफ़ी परिवार में मतभेद हैं और इन संदेशों से यही मतलब निकाला जा सकता है कि गद्दाफ़ी का परिवार हार स्वीकार करने के मूड में नहीं है पर उन्हें ये नहीं पता कि अगल क़दम क्या होना चाहिए.

इस बीच ब्रितानी रॉयल हवाई सेना ने बेनगाज़ी में लीबिया के केंद्रीय बैंक को करीब 23 करोड़ डॉलर कैश पहुँचाया है. ये नोट ब्रिटेन में पहले छापे गए थे लेकिन जब लीबिया में संकट शुरु हुआ तो इन्हें भेजने पर रोक लगा दी गई थी ताकि इन पर गद्दाफ़ी का नियंत्रण न हो जाए.

ब्रितानी विदेश मंत्री विलियम हेग के मुताबिक इस पैसे का इस्तेमाल सार्वजनिक क्षेत्र में काम करने वाले कर्मचारियों के वेतन, दवाईयों और खाद्य सामग्री के लिए होगा.

संबंधित समाचार