दिग्विजय सिंह बनाम केजरीवाल

  • 5 सितंबर 2011
दिग्विजय सिंह इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption दिग्विजय सिंह ने केजरीवाल पर राजनीति करने के आरोप लगाए थे.

कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह के आरोप पर कि अरविंद केजरीवाल ने एनजीओ बनाकर 'करोड़ों' रुपए का चंदा लिया अरविंद केजरीवाल ने तीखा जवाब दिया है.

दिग्विजय सिंह ने ये भी कहा था कि अगर आयकर विभाग ने अरविंद केजरीवाल को नोटिस भेजा है तो उसमे कोई ग़लत बात नहीं है.

दिग्विजय सिंह के बयान पर जवाब देते हुए अरविंद केजरीवाल ने कहा है दिग्विजय इस तरह के 'ग़ैरज़िम्मेदार आरोप' लगाना बंद करें.

अरविंद केजरीवाल ने ये भी कहा कि अगर दिग्विजय सिंह अपनी बात को सही साबित करना चाहते तो उनके खिलाफ़ ऍफ़आईआर दर्ज कराएं.

अरविंद केजरीवाल ने कहा, "अगर दिग्विजय सिंह को लगता है कि मैंने करोड़ों का हेरफेर किया है तो उनकी सरकार मेरे खिलाफ़ कानूनी कार्रवाई करे और ऍफ़आईआर दर्ज कराए."

दिग्विजय का आरोप

इससे पहले दिग्विजय सिंह ने सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हज़ारे के सहयोगी अरविंद केजरीवाल पर पैसों के हेरफेर के आरोप लगाए थे.

उत्तर प्रदेश के आज़मगढ़ में दिग्विजय सिंह ने कहा था कि अरविंद केजरीवाल ने न सिर्फ़ सरकारी नौकरी के नियमों का उलंघन किया बल्कि राजनीति में शामिल हुए.

दिग्विजय सिंह ने ये भी कहा था कि अपने एनजीओ के ज़रिये अरविंद केजरीवाल ने 'करोड़ों' रूपये भी बनाए.

कुछ ही दिन पहले आयकर विभाग की ओर से नौ लाख रुपए का नोटिस भेजे जाने पर अरविंद केजरीवाल ने कहा था कि उन्होंने किसी भी कानून का उल्लंघन नहीं किया और सरकारी दावे बेबुनियाद हैं.

अरविंद केजरीवाल 1995 में भारतीय राजस्व सेवा में शामिल हुए और 2006 में विभाग से इस्तीफ़ा दे दिया.

लेकिन आयकर विभाग का कहना है कि उनका इस्तीफ़ा स्वीकार नहीं किया जा सकता क्योंकि उन्हें विभाग को बकाया धन देना है.

इस बारे में विभाग ने अरविंद केजरीवाल को नोटिस भेजी थी लेकिन अरविंद का कहना है कि विभाग को ये बातें इस्तीफ़े के पाँच साल बाद क्यों ध्यान में आई हैं, खासकर अन्ना हज़ारे का अनशन खत्म होने के बाद.

संबंधित समाचार