यमन में स्थिति तनावपूर्ण, हिंसा जारी

  • 19 सितंबर 2011
यमन इमेज कॉपीरइट ap
Image caption यमन में प्रदर्शकारियों पर कार्रवाई हुई है

यमन से मिल रही ख़बरों से संकेत मिले हैं कि राष्ट्रपति अली अब्दुल्लाह सालेह के समर्थकों और विरोधियों के बीच भीषण टकराव की स्थिति पैदा हो रही है.

यमन की राजधानी सना में सोमवार को सरकार विरोधी प्रदर्शनों के दौरान हिंसा में 20 लोग मारे गए हैं.

ग़ौरतलब है कि रविवार को भी प्रदर्शनों के दौरान भड़की हिंसा में 26 लोगों की मृत्यु हो गई थी. सना में सैन्य हेलिकॉप्टर आसमान में उड़ान भर रहे हैं.

दक्षिणी शहर ताइज़ में सालेह की समर्थक सेना ने विरोधियों के साथ मिल गई एक थल सेना ब्रिगेड पर भीषण गोलाबारी की है. उधर सरकारी मीडिया ने इस ब्रिगेड पर आरोप लगाया है कि उसने एक अस्पताल पर गोलियाँ चलाई हैं.

मांग

यमन में प्रदर्शनकारी राष्ट्रपति अली अब्दुल्लाह सालेह के इस्तीफ़े और व्यापक राजनीतिक सुधारों की मांग कर रहे हैं.

प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि विपक्षी नेताओं ने सोमवार को अपने समर्थकों को जुटाने के लिए लाऊड स्पीकरों का इस्तेमाल किया. ये लोग केंद्रीय सना में तंबू लगाकर जमे हुए थे.

विपक्षी नेताओं ने प्रदर्शनकारियों के आहवान किया कि वे अपने नियंत्रण वाले क्षेत्र को और बढ़ाएँ. इसके थोड़ी देर बाद ही इमारतों पर तैनात निशानेबाज़ों की ओर से प्रदर्शनकारियों और अन्य नागरिकों पर गोलियाँ चलाने की आवाज़ें आने लगीं.

इसी के साथ सरकारी सेना और क़बायली नेता शेख़ अल अहमार के समर्थकों के बीच झड़पों की ख़बरें आने लगीं.

महत्वपूर्ण है कि यमन में ये सब उस समय हो रहा है जब राष्ट्रपति सालेह को यमन छोड़ इलाज के लिए सऊदी अरब गए तीन महीने हो गए हैं. लेकिन यमन के राजनीतिक संकट का हल नज़र नहीं आ रहा है.

संबंधित समाचार