'माइकल जैक्सन अपनी मौत के ज़िम्मेदार ख़ुद'

  • 28 सितंबर 2011
मरे इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption कोनराड मरे ने स्वीकार किया कि उन्होंने माइकल जैक्सन को नींद के लिए शक्तिशाली दवा दी थी

पॉप गायक माइकल जैक्सन के निजी डॉक्टर पर उन्हें दवा की घातक रूप से ज़्यादा मात्रा देकर ग़ैर इरादतन हत्या के आरोप में मुक़दमा शुरू हो गया है.

लॉस ऐंजेलस की एक अदालत में माइकल जैक्सन के निजी डॉक्टर कोनराड मरे का बचाव करते हुए उनके वकील ने कहा कि माइकल जैक्सन अपनी मौत के ज़िम्मेदार ख़ुद थे.

हाँलाकि कोनराड मरे ने स्वीकार किया कि उन्होंने माइकल जैक्सन को नींद के लिए शक्तिशाली दवा दी थी, लेकिन उनके वकील ने कहा कि जब माइकल जैक्सन ने दर्द निवारक दवाओं का मिश्रण लिया तो डॉक्टर मरे वहाँ मौजूद नही थे.

इससे पहले, मुख्य अभियोजन पक्ष के वकील डेविड वॉलग्रेन ने कहा कि साक्ष्य बताते हैं कि डॉक्टर मरे ने घोर लापरवाही बरती और अपने मरीज़ की पर्याप्त देखभाल नही की. माइकल जैक्सन को दर्द निवारक दवाओं की ज़्यादा मात्रा दी, जिसकी वजह से ही उनकी मौत हुई थी.

इस पर मरे के वकील ने दलील दी कि माइकल जैक्सन ने ख़ुद ही काफ़ी मात्रा में नींद की दवा ली थीं.

ऑडियो रिकार्डिग

डेविड वॉलग्रेन ने अदालत को एक ऑडियो रिकार्डिग सुनाई, जिसके बारे में कहा गया कि ये डॉक्टर कोनराड मरे के मोबाइल फोन की है.

डेविड वॉलग्रेन ने कहा कि इस रिकार्डिग में माइकल जैक्सन की आवाज़ लड़खड़ा रही है. इससे ही डॉक्टर मरे को पता लग जाना चाहिए था कि अब उन्हें और दवा नही दी जानी चाहिए.

उन्होंने कहा कि जब डॉक्टर मरे ने माइकल जैक्सन को बेहोश पाया तो भी उन्होंने आपात सेवा को फोन नही किया, बल्कि 20 मिनट बाद एक अंगरक्षक को ऐसा करने के लिए कहा.

महत्वपूर्ण है कि डॉक्टर मरे जब माइकल जैक्सन के निजी डॉक्टर नियुक्त हुए थे. उन दिनों माइकल जैक्सन संगीत की दुनिया में दोबारा वापसी के लिए संगीत कार्यक्रमों की तैयारी कर रहे थे.

जून 2009 में माइकल जैक्सन बिस्तर में बेहोशी की हालत में मिले थे..

जाँच में ये पाया गया था कि दवा की ज़्यादा मात्रा लेने की वजह से पॉप स्टार की मौत हो गई थी.

डॉक्टर मरे ग़ैर इरादतन हत्या के आरोप से इनकार करते रहे हैं, पर अगर उनके ख़िलाफ आरोप साबित हो जाते हैं तो उन्हें चार साल की जेल की सज़ा हो सकती है. साथ ही उनका मेडिकल लाइसेंस भी रद्द हो जाएगा.

संबंधित समाचार