'जैक्सन की मौत अस्पताल पहुँचने से पहले ही'

  • 4 अक्तूबर 2011
कोनराड मरे इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption माईकल जैकसन के निजी फ़िजिशियन पर उन्हें नशीली दवाएं देने का आरोप है.

पॉप गायक माइकल जैक्सन के चिकित्सक के मुक़दमे के दौरान जूरी के सदस्यों को बताया गया है कि जिस वक़्त जैक्सन अस्पताल लाए गए थे तब तक उनकी मौत हो चुकी थी.

उस समय इमरजेंसी कक्ष में मौजूद दो चिकित्सकों का कहना है कि उन्होंने जैक्सन की सांस और दिल की धड़कन को फिर से शुरू करने की कोशिश की क्योंकि पॉप स्टार के निजी फिज़ीशियन कोनराड मरे ऐसा करने के लिए ज़ोर डाल रहे थे.

लेकिन डॉक्टरों का कहना है कि ऐसा करने की उनकी कोशिशें नाकाम रहीं.

लॉस एंजेलेस में बीबीसी संवाददाता पीटर वॉव्स का कहना है कि इमरजेंसी कक्ष में ड्यूटी पर मौजूद ह्रदय रोग विशेषज्ञ ता विन ने कहा है कि कोनराड मरे "हताश" और "पूरी तरह से टूट गए दिख रहे थे."

ता विन का कहना था कि मरे को समय का कोई अंदाज़ नहीं था क्योंकि उन्होंने घड़ी नहीं बांधी हुई थी और वो अस्पताल के कर्मचारियों को नहीं बात पा रहे थे कि माइकल जैक्सन की सांसें कब बंद हुईं थीं.

उनका कहना था कि पॉप सिंगर की सांस और दिल की धड़कनों को फिर से चलाने पाने की बहुत कम उम्मीद थी.

अधिकारियों का कहना है कि जैक्सन की मौत बहुत अधिक मात्रा में नींद की दवा लेने की वजह से हुई थी जो उन्हें उनके घर पर दी गई थी.

संबंधित समाचार