ब्रितानी रक्षा मंत्री लियम फ़ॉक्स का इस्तीफ़ा

लियम फ़ॉक्स और ऐडम वेरीटी इमेज कॉपीरइट philip ide
Image caption फ़ॉक्स को ऐडम वेरीटी के साथ संबंधों के चलते इस्तीफ़ा देना पड़ा

ब्रितानी रक्षा मंत्री लियम फ़ॉक्स ने इस्तीफ़ा दे दिया है.

उन पर अपने दोस्त और स्वघोषित सलाहकार ऐडम वेरीटी के साथ आधिकारिक काम-काज के रिश्तों से जुड़े आरोपों के चलते काफ़ी दबाव था.

प्रधानमंत्री डेविड कैमरन को लिखी चिट्ठी में फ़ॉक्स ने कहा कि वह अपनी निजी और पेशेवर ज़िम्मेदारियों को "ग़लती से अलग" नहीं रख पाए.

इसके जवाब में प्रधानमंत्री कैमरन ने फ़ॉक्स के इस्तीफ़े पर तो अफ़सोस व्यक्त किया मगर साथ ही कहा कि वह इस्तीफ़े के 'कारण समझ सकते हैं.'

ब्रितानी राजनीतिक मामलों के बीबीसी संवाददाता निक रॉबिन्सन के अनुसार प्रधानमंत्री ने ही ये फ़ैसला किया था कि जिस तरह फ़ॉक्स के पूर्व साथी वेरीटी के साथ संबंधों को लेकर सवाल उठ रहे हैं उसके बाद वह अब पद पर बने नहीं रह सकते हैं.

ये पता चला कि बिना किसी आधिकारिक भूमिका के वेरीटी रक्षा मंत्री के साथ 18 विदेश यात्राओं पर गए और उनका बिज़नेस कार्ड उन्हें फ़ॉक्स का सलाहकार बताता था.

माफ़ी

ब्रितानी कैबिनेट सचिव फ़ॉक्स के मंत्री पद की संहिता तोड़ने संबंधी आरोपों की जाँच कर रहे थे.

त्याग पत्र में फॉक्स ने कहा कि वह "ग़लती से निजी हितों और सरकारी गतिविधियों के अंतर को नहीं समझ पाए और हाल के दिनों में उसके नतीजे काफ़ी स्पष्ट हो गए."

फ़ॉक्स ने इसके लिए माफ़ी भी माँगी.

उन्होंने कहा, "मैंने बार-बार कहा है कि राष्ट्रीय हित हमेशा ही निजी हितों से पहले आना चाहिए. अब मुझे अपने पैमानों पर ख़ुद को तौलना होगा. इसलिए काफ़ी अफ़सोस के साथ मैंने फ़ैसला किया है कि मुझे रक्षा मंत्री के पद से इस्तीफ़ा दे देना चाहिए."

फ़ॉक्स ने इस हफ़्ते ही सांसदों से माफ़ी माँगी थी मगर साथ ही कहा था कि उनके वेरीटी के साथ रिश्तों में कुछ भी ग़लत नहीं था.

संबंधित समाचार