इतिहास के पन्नों में 17 अक्टूबर

इतिहास के पन्नों को पलट कर देखें तो पाएंगे कि 17 अक्तूबर के ही दिन साल 1968 के मेक्सिको ओलंपिक में दो काले अमरीकी पदक विजेता धावकों ने रंगभेद का खुला विरोध कर सनसनी फैला दी. साल 1989 में इसी दिन आए एक बड़े भूकंप में कई लोगों की मौत हो गई थी और हज़ारों इमारतों को नुक़सान पहुंचा था.

1968 :काले धावकों ने रंगभेद का किया विरोध

इमेज कॉपीरइट empics
Image caption दो दिन बाद इन दोनों को ओलंपिक के खेल गाँव से बाहर निकाल दिया और वापस अमरीका भेज दिया

दो काले अमरीकी धावकों ने मेक्सिको ओलंपिक में स्वर्ण और कांस्य पदक जीत कर इतिहास बनाने के बाद पदक पायदान पर खड़े हो कर मौन विरोध कर इतिहास रच दिया.

टॉमी स्मिथ और जॉन कार्लोस ने 200 मीटर की दौड़ जीतने के बाद पदक समारोह में अमरीकी राष्ट्रीय गान की धुन बजते समय अपने सिर झुका कर हाथों में काले दस्ताने पहन कर रंगभेद के ख़िलाफ़ प्रदर्शन किया.

इन लोगों ने हाथ में काले दस्ताने के अलावा काले मोज़े पहने थे और इनके पावों में जूते नहीं थे. स्मिथ की गर्दन में एक काला रुमाल भी लिपटा था. पदक समारोह के बाद जब यह लोग वापस लौट रहे थे तब बहुत से दर्शकों ने अपना ग़ुस्सा ज़ाहिर किया.

टॉमी स्मिथ जिनके पास सात विश्व रिकॉर्ड थे उन्होंने बाद में एक पत्रकार वार्ता में कहा, "अगर मैं जीतता हूँ तो मैं अमरीकी हूँ और अगर मैं कुछ बुरा काम करता हूँ तो लोग कहेगें कि वो एक नीग्रो है. मुझे अपने काले होने पर फ़क्र है. काले अमरीकी हमारे विरोध को समझेंगे."

अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति ने उनके विरोध को ग़लत ठहराया और इसको ओलंपिक की भावना के खिलाफ़ बताया. दो दिन बाद इन दोनों को ओलंपिक के खेल गाँव से बाहर निकाल दिया और वापस अमरीका भेज दिया. अमरीका में काले लोगों ने इनका भव्य स्वागत किया.

1989 : सैन फ्रांसिस्को में ताकतवर भूकंप कई मरे

Image caption क़रीब 12000 इस भूकंप की वजह से बेघर हो गए.

साल 1989 में इसी दिन रिक्टर पैमाने पर 6.9 की क्षमता का भूकंप आया था. पहले दिन नौ लोगों के मरने ख़बर आई लेकिन पूरी जानकारी एकत्र हुई तो पता चला 63 लोगों को इस भूकंप की वजह से जान से हाथ धोना पड़ा है और क़रीब एक लाख इमारतों को नुकसान पहुंचा.

इतनी भीषण तबाही के बावजूद कम मौतों के कारण के बारे में तफ्तीश पर पता लगा कि उस दिन ज़्यादातर लोग बड़ी इमारतों में अपने दफ्तरों से जल्दी निकल गए थे क्योंकि उस रोज़ टेलिविज़न पर बेसबॉल का एक महत्वपूर्ण मैच आना था.

क़रीब 12000 लोग इस भूकंप की वजह से बेघर हो गए. बहुत बड़ी तदाद में इमारतों की हालत इतनी बुरी हो गई कि उन्हें ढहा कर फिर से बनाना पड़ा.

संबंधित समाचार