'विवादित' मलेमा पाँच साल के लिए निलंबित

  • 10 नवंबर 2011
मलेमा इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption मलेमा अपने कई बयानों के कारण विवादित रहे हैं

दक्षिण अफ़्रीका की सत्ताधारी अफ़्रीकी नेशनल कांग्रेस ने विवादित युवा नेता जुलियस मलेमा को पाँच साल के लिए पार्टी से निलंबित कर दिया है. उन पर पार्टी का अनुशासन तोड़ने का आरोप था.

कई दिनों तक चली अनुशासनात्मक सुनवाई के बाद मलेमा को पार्टी में फूट डालने और पार्टी का नाम बदनाम करने का दोषी पाया गया.

अनुशासनात्मक समिति ने सुनवाई के बाद कहा कि जुलियस मलेमा अवरोध खड़ा करने वाले, पार्टी में फूट डालने वाले और अनुशासनहीन हैं.

समिति का फ़ैसला आने के समय पुलिस ने एएनसी के मुख्यालय को घेर लिया था. क्योंकि उन्हें आशंका थी कि मलेमा समर्थकों और विरोधियों में झड़प हो सकती है. सुनवाई के दौरान कई बार ऐसी छोटी-बड़े झड़पें हुई थी.

एक समय राष्ट्रपति जैकब ज़ूमा के क़रीबी रहे जुलियस मलेमा उनके कड़े आलोचक बन गए थे. मलेमा ने राष्ट्रपति ज़ूमा पर आरोप लगाया था कि वे देश के ग़रीब तबके को भूल गए हैं, जिनकी बदौलत वर्ष 2009 में उन्हें सत्ता मिली थी.

मुश्किल

जुलियस मलेमा ये भी चाहते हैं कि वर्ष 2014 के चुनाव से पहले ज़ूमा को पार्टी के नेता के रूप में बदल दिया जाए. लेकिन इस फ़ैसले के बाद ऐसा होना मुश्किल लगता है.

जोहानेसबर्ग से बीबीसी संवाददाता मिल्टन नकोसी का कहना है कि अनुशासनात्मक समिति के इस फ़ैसले से दोबारा नेता बनने की दिशा में जैकब ज़ूमा की स्थिति मज़बूत होगी.

अगले साल जनवरी में पार्टी अपनी 100वीं वर्षगाँठ बना रही है. बीबीसी संवाददाताओं का कहना है कि पार्टी ये दिखाना चाहती है कि संगठन किसी युवा नेता के इशारे पर नहीं चलेगा.

जुलियस मलेमा ने पार्टी नेतृत्व में बदलाव के साथ-साथ बोत्सवाना में सरकार बदलने की भी अपील की थी. अपने कई विवादित बयानों के कारण भी मलेमा पार्टी के लिए सिरदर्द बने हुए थे.

एक बार उन्हें देश के गोरे किसानों पर टिप्पणी की थी, तो एक बार ज़िम्बाब्वे जाकर राष्ट्रपति मुगाबे को पार्टी के समर्थन की बात कही थी, जबकि उस समय एएनसी ज़िम्बाब्वे में गठबंधन सहयोगियों के बीच मध्यस्थता कर रहे थे.

संबंधित समाचार