परमाणु मामले पर जल्द सफ़ाई दे ईरान: हिलेरी

हिलेरी किलंटन इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption ईरान पर दबाव बढ़ाने के लिए अमरीका अपने मित्र देशों से संपर्क करने की बात कह रहा है.

अमरीकी विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन ने ईरान से कहा है कि वो अपने परमाणु कार्यक्रम के संबंध में संयुक्त राष्ट्र की परमाणु ऊर्जा एजेंसी के संदेह को दूर करे.

आईएईए ने हाल में ही अपनी रिपोर्ट में कहा है कि ऐसा लगता है कि ईरान परमाणु बम की तकनीक पर काम कर रहा है.

अमरीकी सूबे हवाई की राजधानी होनुलुलु में एशिया-प्रशांत महासागर क्षेत्र के विदेश मंत्रियों की बैठक के बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए हिलेरी क्लिंटन ने कहा, "अपने परमाणु कार्यक्रम को लेकर ईरान के इंकार करने और धोखा देने का बहुत पुराना इतिहास है."

जवाब

उन्होंने कहा, "आनेवाले दिनों में हम ईरान से उम्मीद करते हैं कि वो उन गंभीर सवालों के जवाब देगा जो इस रिपोर्ट में उठाए गए हैं."

उनका ये भी कहना था कि ईरान पर दबाव बढ़ाने के लिए अमरीका अपने मित्रों से सलाह मशविरा जारी रखेगा.

यहां ये उल्लेख करना ज़रूरी है कि आईएईए ने अपनी ताज़ा रिपोर्ट में कहा है कि ईरान कार्यक्रम में जिस कंप्यूटर माडल का इस्तेमाल कर रहा है उसका प्रयोग परमाणु बम बनाने में किया जा सकता है.

संस्था ने कहा है कि ईरान इस मामले में सफ़ाई दे.

प्रतिबंध

इस रिपोर्ट के बाद अमरीका और फ्रांस ने ईरान पर नए प्रतिबंध लगाने की बात कही है लेकिन रूस ने कहा है कि वो किसी नए प्रतिबंध पर हामी नहीं भरेगा.

रूस का कहना है कि ईरान पर अतिरिक्त प्रतिबंध लगाने का उद्देश्य वहां की सरकार में बदलाव हो सकता है.

अमरीका और अन्य पश्चिमी देश कहते रहे हैं कि ईरान परमाणु कार्यक्रम की आड़ में परमाणु हथियार तैयार कर रहा है.

लेकिन ईरान बार-बार कहता रहा है कि उसका उद्देश्य इस कार्यक्रम की मदद से बिजली पैदा करना है.

संबंधित समाचार