‘लंदन ओलंपिक के लिए मिसाइलें हो सकती हैं तैनात’

  • 15 नवंबर 2011

ब्रिटेन के रक्षामंत्री फिलिप हैमंड ने कहा है कि साल 2012 में लंदन में होने वाले ओलंपिक खेलों के आयोजन के दौरान सुरक्षा के लिए ज़रुरत पड़ने पर मिसाइलें तैनात की जा सकती हैं.

पूर्व रक्षामंत्री लियाम फॉक्स की ओर से लंदन ओलंपिक की सुरक्षा को लेकर पूछे गए सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि आयोजन की सुरक्षा के लिए ज़मीन से हवा में मार करने वाली मिसाइलें तैनात की जा सकती हैं.

एक अनुमान के मुताबिक इस आयोजन की सुरक्षा के लिए निजी क्षेत्र के लगभग दस हज़ार सुरक्षाकर्मियों के अलावा 12 हज़ार अतिरिक्त सुरक्षाकर्मियों की मदद ली जाएगी

ब्रिटेन में भले ही अपराध संबंधी मामलों में गिरवट दर्ज हुई हो लेकिन अगले साल होने वाले ओलंपिक खेलों में सुरक्षा एक बड़ा मुद्दा है.

लंदन में हुए दंगों के बाद चली लंबी दौर की हिंसा ने कई देशों के मन में शंकाएं पैदा कर दी हैं.

चुनौतियां

ओलंपिक की तैयारियों से जुड़े अधिकारियों के मुताबिक इस तरह के ख़तरे गंभीर हो सकते हैं और जैसे-जैसे समय नज़दीक आ रहा है चुनौतियां स्पष्ट हो रही हैं.

आयोजन को सुरक्षित बनाने के लिए कई निजी सुरक्षा कंपनियों से संपर्क किया गया है.

सेना ने इस मौके पर सुरक्षा बहाल करने के लिए पूरी मदद की बात कही है. हालांकि इस बीच लंदन स्थित अमरीकी उच्चायोग ने इस बारे में कोई भी टिप्पणी करने से इंकार कर दिया कि अमरीका लंदन ओलंपिक के दौरान सुरक्षा व्यवस्था को लेकर चिंतित है.

बीबीसी संवाददाताओं के मुताबिक इन तैयारियों के बावजूद इस आयोजन में लगभग पांच हज़ार कामगारों की कमी पड़ सकती है और सबसे बड़ा सवाल इनकी उपलब्धता और वेतन का है.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए