न्यूयॉर्क पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को खदेड़ा

'वॉल स्ट्रीट पर कब्ज़ा करो' प्रदर्शन इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption न्यूयॉर्क में पुलिस ने देर रात 'वॉल स्ट्रीट पर कब्ज़ा करो' के प्रदर्शनकारियों को हटाने की कार्रवाई शुरु की.

न्यूयॉर्क में पुलिस ने देर रात कार्रवाई करते हुए ‘वॉल स्ट्रीट पर कब्ज़ा करो’ मुहिम के तहत प्रदर्शन कर रहे लोगों को शहर के वित्तीय क्षेत्र के उस पार्क से हटा दिया है जहां वे सितंबर से शिविर लगाकर बैठे हुए थे.

प्रदर्शनकारियों को हटाने के लिए देर रात पुलिस का एक बड़ा दस्ता ज़ुकॉटी पार्क में गया. इस अभियान में लगभग 70 लोगों को गिरफ़्तार किया गया.

कुछ प्रदर्शनकारियों ने कहा है कि वे शहर के एक अन्य इलाक़े में एकत्रित होंगे.

सोमवार को कैलिफ़ोर्निया के ऑकलैंड में पुलिस ने 30 से अधिक लोगों को ऐसा ही प्रदर्शन शिविर लगाने पर गिरफ़्तार कर लिया था.

रविवार को ओरेगॉन राज्य के पोर्टलैंड शहर में पुलिस की कार्रवाई में 50 लोगों को गिरफ़्तार किया गया था.

आर्थिक असमानता के ख़िलाफ़ वॉल स्ट्रीट बंद करो आंदोलन सितंबर में शुरू हुआ था और अब तक ये यूरोप, दक्षिण अमरीका और एशिया समेत दुनिया के कई शहरों में हुआ है.

पुलिस अभियान

न्यूयॉर्क शहर के ज़ुकॉटी पार्क में पुलिस का अभियान सुबह एक बजे शुरू हुआ. पुलिस ने वहां जमा प्रर्दशनकारियों को हटने का आदेश दिया और इसके बाद वहां सेतंबू और बाकी सामान हटाना शुरु किया.

कार्रवाई की शुरुआत में पुलिस ने घोषणा की कि "ज़ुकॉटी पार्क में लोगों के लगातार जमावड़े से स्वास्थ्य और आग लगने का ख़तरा बढ़ रहा है."

प्रदर्शनकारियों में इस आशय के पर्चे भी बांटे गए, जिनमें लिखा था कि पार्क ख़ाली कराने के बाद उन्हें लौटने दिया जाएगा लेकिन वे तंबू जैसे शिविर लगाने का सामान नहीं ला सकते.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption अधिकारियों का कहना है कि ओकलैंड शिविर को हिंसा की आशंका के चलते खाली कराया गया.

नोटिस में प्रदर्शनकारियों से 'तुरंत सभी निजी संपत्ति' हटाने के लिए कहा गया और ये भी कि अगर उन्होंने पुलिस की कार्रवाई में रुकावट डाली, तो उन्हें गिरफ़्तार किया जाएगा.

पार्क के नज़दीक मौजूद बीबीसी संवाददाता लॉरा ट्रेवेलिन का कहना है कि प्रदर्शनकारियों को पुलिस के देर रात लिए गए इस क़दम की कोई जानकारी नहीं थी. संवादादाता का ये भी कहना है कि शिविर लगाने के समान पर प्रतिबंध लगाने से लोगों का पार्क में सोना भी बंद हो जाएगा.

समाचार एजेंसी एपी के मुताबिक़ एक प्रदर्शनकारी राबी चैम ग्रुबर का कहना था, "पुलिस मानव कवच बना रही है और सबको वहां से हटा रही है."

न्यूयॉर्क शहर के मेयर माइकल ब्लूमबर्ग और अधिकारियों पर वहां के व्यवसायियों द्वारा शिविर बंद करने के लिए काफ़ी समय से दबाव पड़ रहा था.

डेनवर, वरमॉन्ट, कोलाराडो, सॉल्ट लेक सिटी जैसे कई अमरीकी शहरों में पिछले दो महीनों में ऐसे विरोध शिविर लगे हैं जिन्हें पुलिस ने ख़ाली कराया है.

संबंधित समाचार