सीरियाई विद्रोहियों का सैन्य अड्डे पर हमला

सीरिया (फ़ाइल फ़ोटो) इमेज कॉपीरइट a
Image caption सीरिया में मार्च से बशर अल असद के ख़िलाफ़ प्रदर्शन हो रहे हैं

सीरिया में विपक्षी गुटों ने कहा है कि सैन्य विद्रोहियों ने राजधानी दमिश्क के पास स्थित एक बड़े सैनिक अड्डे पर हमला किया है.

सीरियाई रेवोल्यूशन जनरल कमिशन के अनुसार इस हमले में हरासता में वायुसेना की ख़िफ़िया इमारत की कई हिस्से ध्वस्त हो गए हैं.

सीरियाई विद्रोहियों ने मार्च में सीरिया में शुरु हुए सरकार विरोधी प्रदर्शनों के बाद से पहली बार इतना शक्तिशाली हमला किया है जिसमें रॉकेट और मशीन गनों का इस्तेमाल किया है.

हरासता अड्डे पर हमला बहुत महत्वपूर्ण है क्योंकि ये वायुसेना का गढ़ है और प्रदर्शनकारियों के ख़िलाफ़ कार्रवाई में वायुसेना के ख़ुफ़िया विभाग ने बड़ी भूमिका निभाई है.

ट्यूनिशिया और मिस्र में सरकार विरोधी प्रदर्शनों और सत्ता परिवर्तन के बाद से इस साल मार्च में सीरिया में सरकार विरोधी प्रदर्शन शुरु हुए थे.

लेकिन सरकार ने प्रदर्शनकारियों के ख़िलाफ़ भीषण बल प्रयोग किया है जिसमें संयुक्त राष्ट्र के अनुसार 3500 लोग मारे गए हैं. इसके लिए उसकी अंतरराष्ट्रीय समुदाय की ओर से व्यापक आलोचना हुई है.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption सीरिया के मुद्दे पर अरब लीग बुधवार को मोरोक्को में मिल रही है

प्रदर्शनकारियों की मांग है कि सीरिया में समग्र राजनीतिक सुधार हों और बशर अल असद, जिनका परिवार दशकों से सीरिया में सत्ता में बना हुआ है, वो सत्ता छोड़े.

अरब लीग की अहम बैठक

ग़ौरतलब है कि ये हमला तब हुआ है जब अरब लीग सीरिया में सरकार विरोधी प्रदर्शनकारियों के ख़िलाफ़ बल प्रयोग पर बहस करने जा रही है.

अरब लीग पहले ही सीरिया की सदस्यता निलंबित करने की घोषणा कर चुकी है और इसकी औपचारिक घोषणा मोरोक्को में होनी है.

सीरिया ने इस पर कड़ी प्रतिक्रिया जताई है और वह बुधवार को होने वाली बैठक में शामिल नहीं हो रहा है.

सीरिया की सरकार ने विदेशी पत्रकारों की देश में आवाजाही पर कई तरह के प्रतिबंध लगा दिए हैं इसलिए हिंसा की इन ख़बरों की स्वतंत्र सूत्रों से पुष्टि कर पाना अत्यंत मुश्किल है.

हालाँकि सीरियाई सरकार किसी भी तरह की हिंसा के लिए सशस्त्र गिरोहों को ज़िम्मेदार ठहराती है.

संबंधित समाचार