ईरान परमाणु कार्यक्रम से जुड़ी शंकाएँ दूर करे: आईएईए

इमेज कॉपीरइट AP

संयुक्त राष्ट्र परमाणु सुरक्षा एजेंसी आईएईए ने ईरान के विवादित परमाणु कार्यक्रम पर चिंता जताते हुए प्रस्ताव पारित किया है.

आईएईए ने ईरान से कहा है कि वो अपने परमाणु कार्यक्रम को लेकर चल रही शंकाओं और सवालों का जल्द जवाब दे.

आईएईए के बोर्ड ऑफ़ गवर्नरों में शामिल ज़्यादातर सदस्यों ने प्रस्ताव का समर्थन किया. हालांकि इसमें ईरान का मामला संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद भेजने या किसी तरह के प्रतिबंध की बात नहीं की गई है.

बीबीसी संवाददाता का कहना है कि ईरान के ख़िलाफ़ प्रस्ताव का मसौदा दरअसल बीच का रास्ता अपनाने जैसे था.

दरअसल अमरीका और उसके सहयोगी चाहते थे कि ईरान के ख़िलाफ़ कड़ी कार्रवाई की जाए लेकिन चीन और रूस इसके ख़िलाफ़ थे.

ईरान हमेशा से कहता आया है कि उसका परमाणु कार्यक्रम शांतिपूर्ण मकसद के लिए है. ईरान का तर्क है कि आईएईए की ताज़ा रिपोर्ट में दी गई जानकारी तोड़ मरोड़कर पेश की गई है.

ईरान ने आईएईए पर अमरीका की कठ्पुतली होने का आरोप लगाया है.

पिछले हफ़्ते आईएईए ने अपनी रिपोर्ट में कहा था कि इस बात के पर्याप्त सुबूत हैं कि ईरान ने ऐसे परीक्षण किए हैं जो परमाणु हथियार विकसित करने से जुड़े हुए हैं.

संबंधित समाचार