मिस्र: झड़पों में एक की मौत, 600 घायल

इमेज कॉपीरइट Reuters

मिस्र में सरकारी मीडिया के मुताबिक काहिरा में सुरक्षाबलों और प्रदर्शनकारियों के बीच हुई झड़पों में एक व्यक्ति की मौत हो गई है और 600 से ज़्यादा घायल हो गए हैं.

प्रदर्शनकारियों को चौराहे पर धरना देने से रोकने के लिए पुलिस ने रबर की गोलियाँ चलाईं. शुक्रवार से ही काहिरा में सेना के विरोध में प्रदर्शन हो रहे हैं.

कुछ प्रदर्शनकारियों ने पत्थर फ़ेंके और पुलिस वाहनों को आग लगा दी गई.

तहरीर चौराहे से आए टीवी फ़ुटेज में दिखाया गया है कि छिटपुट हिंसा जारी है. सैकड़ों लोग अब भी जमा हैं.

हिंसा शनिवार को तब शुरु हुई जब काहिरा में प्रदर्शनकारियों के एक छोटे से टेंट को हटा दिया गया.

शुक्रवार को नमाज़ के बाद सेना विरोधी रैली के बाद सैकड़ों लोगों ने रात को वहीं शिविर लगा लिया था.

बताया जा रहा है कि पुलिस के साथ झड़पों के बाद सोशल मीडिया पर लोगों से प्रदर्शनों में आने को कहा गया जिसके बाद प्रदर्शनकारियों की संख्या बढ़ गई.

अली अब्दुल अज़ीज़ भी प्रदर्शनकारियों में शामिल थे. उन्होंने बताया, "सुरक्षाबलों ने हमें बुरी तरह पीटा. उन्होंने महिला और पुरुष का अंतर भी नहीं किया. आंतरिक मामलों के मंत्रालाय को ज़िम्मेदारी लेनी होगी. हमारी माँग है कि सैन्य परिषद ख़त्म होनी चाहिए."

पिछले कुछ महीनों में ये सबसे बड़ा प्रदर्शन था. प्रदर्शनकारी सत्ताधारी सैन्य परिषद के ख़िलाफ़ नारे लगा रहे थे.

लोग सेना के नए संवैधानिक प्रस्ताव से नाराज़ हैं. बीबीसी संवाददाता के मुताबिक लोगों का मानना है कि नए प्रस्ताव के तहत नई सरकार आने के बाद भी सेना के पास बहुत से अधिकार रह जाएँगे.

संबंधित समाचार