प्रधानमंत्री ने शादी की परंपरा तोड़ी

चांगिराई इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption माना जा रहा है कि चांगिराई क्रिसमस के आसपास एक बार परंपरागत ढंग से फिर शादी करेंगे

ज़िम्बाब्वे के प्रधानमंत्री मॉर्गन चांगिराई ने एक स्थानीय वर्जना को तोड़ते हुए नवंबर के महीने में शादी की है.

वहाँ पारंपरिक रुप से माना जाता है कि यदि किसी ने नवंबर में शादी की तो ये दंपति के लिए अशुभ होता है.

लेकिन प्रधानमंत्री चांगिराई ने सोमवार को एक महिला उद्यमी लोकाडिया टेंबो से पारंपरिक समारोह में शादी कर ली. उन्होंने परंपरानुरुप दुल्हन के बदले 36 हज़ार डॉलर (लगभग 18.75 लाख रुपए) की राशि और दस गायें अदा की.

वर्ष 2009 में एक कार दुर्घटना में उनकी पहली पत्नी सुज़न की मौत हो गई थी.

इसी साल उन्होंने लंबी राजनीतिक लड़ाई के बाद राष्ट्रपति रॉबर्ट मुगाबे के साथ सरकार में शामिल होना स्वीकार किया था.

चिंता भी

प्रधानमंत्री शादी करना चाहते हैं इसके संकेत उन्होंने राजधानी हरारे के बाहर अपनी पार्टी मूवमेंट फ़ॉर डेमोक्रेटिक चेंज (एमडीसी)की एक रैली में पिछले सप्ताहांत दी थी.

59 वर्षीय एमडीसी नेता ने रैली में मज़ाक करते हुए कहा था कि पत्रकार हमेशा लिखते रहते हैं कि उनकी महिला मित्र हैं. फिर उन्होंने ख़ुश होकर ताली बजाती भीड़ से पूछा, "लेकिन क्या एक अकेले व्यक्ति को इस अधिकार से वंचित रखा जाना चाहिए?"

चांगिराई ने 39 वर्षीय टेम्बो से शादी की है, जो एक व्यावसायी हैं और रॉबर्ट मुगाबे की पार्टी के एक सांसद की बहन हैं.

इसे लेकर एमडीसी में एक विवाद भी है.लेकिन ज़्यादातर लोग अपने नेता के इस निर्णय से ख़ुश हैं.

कुछ ऐसे भी हैं जो नवंबर में शादी करने के चांगिराई के फ़ैसले पर चिंतित हैं.

एक व्यक्ति ने कहा, "वरिष्ठ होने के नाते उन्हें उदाहरण पेश करना चाहिए, आख़िर वही लोग तो हमें बताते रहे हैं कि नवंबर में शादी नहीं करनी चाहिए."

वैसे चांगिराई ने कहा है कि परंपरागत शादी की एक और औपचारिकता की जाए. इसकी तारीख़ की घोषणा नहीं की गई है.

संबंधित समाचार